Coronavirus in India: बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा 7466 नए मामले, Covid-19 मरीजों की संख्या पहुंची 1,65,799

 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 7466 नए मामले सामने आए हैं जबकि 175 लोगों की मौत हुई है. कोरोना से अभी तक 4706 लोगों की मौत हो चुकी है,

Coronavirus in India: बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा 7466 नए मामले, Covid-19 मरीजों की संख्या पहुंची 1,65,799

जारी है कोरोनावायरस के खिलाफ जंग

नई दिल्ली:

Coronavirus: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण काबू में आने का नाम नहीं ले रहा है.  देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 1,65,799 हो गई है. 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 7466 नए मामले सामने आए हैं जबकि 175 लोगों की मौत हुई है. कोरोना से अभी तक 4706 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 71 हजार 106 मरीज इस बीमारी को मात देने में सफल भी हुए हैं. देश में पिछले एक हफ्ते से प्रतिदिन कोरोना वायरस के छह हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं. यह पहली बार है कि मामलों की संख्या 7 हजार के आंकड़ों को पार कर गई है. वहीं बात करें रिकवरी रेट की तो आपको बता दें कि यह 42.88 फीसदी पर पहुंच चुका है. 

वहीं दूसरी गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गुरुवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन को लेकर बातचीत की है. बता दें कि 31 मई को लॉकडाउन-4 खत्म हो रहा है और इससे पहले ही गृह मंत्री ने मुख्यमंत्रियों से इसे लेकर राय ली. इस दौरान आगे की रणनीति को लेकर भी चर्चा हुई. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन सबसे पहले 25 मार्च को लगाया था और इसके बाद इसे तीन बार बढ़ाया जा चुका है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, ‘गृह मंत्री ने सभी मुख्यमंत्रियों से बातचीत की और लॉकडाउन को 31 मई के बाद बढ़ाए जाने पर उनके विचार जाने.'

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में लॉकडाउन लागू करने के फैसले को सही बताया है. मंत्रालय ने कहा है कि लॉकडाउन से कई फायदे हुए हैं और उनमें से सबसे महत्वपूर्ण यह है कि इसने कोविड-19 के प्रसार की गति को कम किया है. देश में कोविड-19 से निपटने के लिए 10341 क्वारेंटाइन सेंटर, 7195 कोविड देखभाल केन्द्र और 652830 बिस्तर उपलब्ध हैं. केन्द्र ने राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों और केन्द्रीय संस्थानों को 113.58 लाख एन95 मास्क और 89.84 लाख व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) उपलब्ध कराए हैं. देश की 435 सरकारी प्रयोगशालाओं और 189 निजी प्रयोगशालाओं के जरिए देश में जांच क्षमता को बढ़ाया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com