कुमार विश्वास का ट्वीट- 'दिन में चार बार प्रेस कॉन्फ्रेंस और 100 बार पैसे देकर ऐड के बहाने चेहरा भी दिखा लोगे, लेकिन...'

दिल्ली में होने वाली लापरवाही के कारण मशहूर कवि कुमार विश्वास ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर तीन ट्वीट किए हैं. उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है.

कुमार विश्वास का ट्वीट- 'दिन में चार बार प्रेस कॉन्फ्रेंस और 100 बार पैसे देकर ऐड के बहाने चेहरा भी दिखा लोगे, लेकिन...'

मशहूर कवि कुमार विश्वास- फाइल फोटो

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन किया है, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा कम हो. ऐसे में कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जिससे संक्रमण फैलने की वजह और भी बढ़ रही है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अभी तक देश में करीब 1400 लोग कोरोना से संक्रमित, 35 लोगों की मौत और 100 से अधिक लोग ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं. हालांकि कोरोना के संक्रमण का फैलने का खतरा और भी बढ़ रहा है. लॉकडाउन के चलते देश में रोजाना कमाकर रोजमर्रा का जीवन जीने वाले मजदूर अब बेसहारा हो गए हैं, जिसकी वजह से वह अपने घरों की ओर पलायन पैदल ही कर रहे हैं. इन्हीं सब मसलों को लेकर दिल्ली में होने वाली लापरवाही के कारण मशहूर कवि कुमार विश्वास ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर तीन ट्वीट किए हैं. उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है.

कुमार विश्वास ने अपने पहले ट्वीट में लिखा, ''सोचता था कि इतने पराक्रमी-पुरुषार्थी और देशभक्त बच्चों की भारत मां कैसे 1000 साल गुलाम रही. आज देखकर समझ आता है! देश मरता हो मर जाए पर कुछ नीचों का मजहबी-तुष्टिकरण वाला वोट जुगाड़ु एजेंडा बचना चाहिए. शायद हम डिजर्व भी करते है जो ऐसे लंपटों को पहचानने के बाद भी चुनते हैं.''

आगे कुमार विश्वास ने लिखा, ''हज़ारों करोड़ों के विज्ञापन देकर मीडिया को चुप करा लोगे नीचेश्वर, दिन में चार बार प्रेस कॉन्फ्रेंस और सौ बार पैसे देकर ऐड के बहाने चेहरा भी दिखा लोगे, पर ईश्वर कभी तो तुम्हारे इन बेहिसाब पापों का हिसाब करेगा. भारत के अखंडित तप का पुण्यफल दे ईश्वर! हमारे गांवों-गरीबों को बचा.'' अपने आखिरी ट्वीट में कुमार विश्वास ने लिखा, ''लेकिन.... आज नहीं तो कल निकलेगा, इस विपदा का हल निकलेगा!''

बता दें कि करीब 100 लोगों के कोरोनावायरस (Coronavirus) के टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद निज़ामुद्दीन मरकज़ से सभी 2,100 लोगों को बाहर निकाला गया है. बुधवार की सुबह 4 बजे मरकज को खाली कराया गया. करीब 2100 लोग मरकज़ से निकाले गए.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com