NDTV Khabar

उन्नाव रेप पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए एम्स में पहुंचा कोर्ट, बन गया इतिहास

उन्नाव रेप से जुड़े केसों को लेकर पीड़िता का बयान दर्ज करने और आरोपी से जिरह के लिए एम्स में ही सीबीआई की विशेष अदालत लगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उन्नाव रेप पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए एम्स में पहुंचा कोर्ट, बन गया इतिहास

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. उन्नाव रेप पीड़ित ने तीन घंटे में अपना बयान दर्ज कराया
  2. पीड़ित लड़की ने पूरी निडरता से बयान दर्ज कराए
  3. पूरी कार्रवाई इन कैमरा, आरोपियों का क्रॉस एग्जामिनेशन हुआ
नई दिल्ली:

उन्नाव रेप से जुड़े केसों को लेकर पीड़िता का बयान दर्ज करने के लिए और आरोपी से जिरह के लिए आज एम्स में ही सीबीआई की विशेष अदालत लगी. ऐसा कभी शायद ही सुना हो, लेकिन केस में एम्स में इलाज करा रही पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए कोर्ट खुद ही अस्पताल पहुंच गया. उन्नाव केस रेप केस में पीड़ित लड़की ने सीबीआई की एफआईआर आरसी 8, यानी रेप वाले केस में आज 3 घंटे में अपना बयान दर्ज कराया.

पीड़ित लड़की ने पूरी निडरता से अपना बयान दर्ज कराया. उसके बाद आज आरोपी कुलदीप सेंगर और शशि सिंह का क्रॉस एग्जामिनेशन चलता रहा.बुधवार को सुबह 10:30 बजे से शाम 5 बजे तक एम्स में अदालत चली. बीच में आधा घंटे का लंच ब्रेक हुआ. पूरी कार्रवाई इन कैमरा हुई. कल भी आरोपियों का क्रॉस एग्जामिनेशन होगा. कल शाम को एम्स में कोर्ट की कार्रवाई खत्म हो जाएगी.

ऐसा शायद ही कभी सुना हो कि अदालत परिसर से अदालत चलकर अस्पताल तक पहुंच जाए, लेकिन उन्नाव रेप और उससे जुड़े तमाम केसों में पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए एम्स ट्रामा सेंटर में ही विशेष सीबीआई कोर्ट लगाई गई. पीड़िता और उसके वकील का एम्स में ही इलाज़ चल रहा है. एम्स ट्रामा सेंटर में ही अस्पताल के सेमिनार हाल को कोर्ट में तब्दील कर दिया गया.


उन्नाव रेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने जांच पूरी करने के लिए CBI को दिया दो और हफ्ते का वक्त

कोर्ट में सुबह 10:30 बजे ही जज धर्मेश शर्मा और उनका स्टाफ पहुच गया था. इससे पहले आरोपी कुलदीप सेंगर और शशि सिंह को भी लाया गया. कोर्ट में सीआरपीसी 164 के पीड़ित का बयान दर्ज किया गया. पीड़ित और आरोपी का कोर्ट में आमना सामना न हो इसके लिए कोर्ट में बीच में पर्दे लगाए गए हैं.

CBI ने एम्स में दर्ज किया उन्नाव रेप पीड़िता का बयान, ICU से वार्ड में शिफ्ट हुई पीड़िता: सूत्र

सूत्रों के मुताबिक बुधवार को पीड़िता के बयान ही दर्ज होते रहे जो गुरुवार को भी होंगे. पीड़िता के बयान दर्ज होने के बाद आरोपियों से जिरह भी होगी. यह विशेष कोर्ट गुरुवार तक ही चलना है लेकिन अगर पीड़िता के बयान और जिरह पूरी नहीं हो पाई तो कोर्ट का समय बढ़ाया जा सकता है.

टिप्पणियां

VIDEO : अस्पताल में अदालत लगेगी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement