कोरोनावायरस: क्‍या देश में रेस्‍टोरेंट-होटल्‍स 15 अक्‍टूबर तक रहेंगे बंद? जानें क्‍या है सच्‍चाई

होटलों को बंद करने के लिए कहा गया है, और केवल उन्हीं मेहमानों के लिए केटरिंग जारी रहेगी, जो लॉकडाउन के कारण फंसे रह गए हैं. देशभर में रेस्तराओं से भी खाना परोसने की सुविधा बंद करने के लिए कहा गया है.

कोरोनावायरस: क्‍या देश में रेस्‍टोरेंट-होटल्‍स 15 अक्‍टूबर तक रहेंगे बंद? जानें क्‍या है सच्‍चाई

प्रतीकात्‍मक फोटो

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस की महामारी और इससे बचाव के लिए देश में लागू किए गए 21 दिन के लॉकडाउन के बीच अफवाहों और फर्जी खबरों का दौर सा शुरू हो गई हैं. सोशल मीडिया पर ऐसी कुछ खबरें वायरल हो रही है जिनका असलियत से दूर-दूर तक वास्‍ता नहीं है. ऐसी ही एक खबर इन दिनों चल रही है कि पर्यटन मंत्रालय ने रेस्‍टोरेंटों और होटलों को 15 अक्‍टूबर तक बंद रखने के लिए कहा है, यह सही नहीं है. प्रसार भारती की ओर से स्‍पष्‍ट किया गया है कि यह खबर पूरी तरह से फर्जी है और इसमें जरा भी सच्‍चाई नहीं है.

 होटलों को बंद करने के लिए कहा गया है, और केवल उन्हीं मेहमानों के लिए केटरिंग जारी रहेगी, जो लॉकडाउन के कारण फंसे रह गए हैं. देशभर में रेस्तराओं से भी खाना परोसने की सुविधा बंद करने के लिए कहा गया है. इस बीच अन्‍य तरह की फूड डिलीवरी जारी रहेंगी क्‍योंकि ये जरूरी सेवाओं में आती है और इन्‍हें लॉकडाउन के बीच भी जारी रखने की इजाजत दी गई है.

गौरतलब है कि भारत में अब तक कोरोना के 5700 से अधिक केस सामने आए हैं और 150 से अधिक लोगों की जान गई है. देश में फिलहाल 21 दिन का लॉकडाउन जारी है, जो 14 अप्रैल को समाप्‍त होगा. लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर विचार चल रहा है. प्रधानमंत्री ने बुधवार को लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के संकेत दिए थे. देश में चल रहे इस लॉकडाउन के बीच रेस्‍टोरेंट/होटल संचालित करने वालों को यह चिंता सता रही है कि कोरोना वायरस के बाद स्थिति सामान्‍य होने के बाद भी उनका बिजनेस प्रभावित रहेगा और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए लोग भीड़भाड़ वाले स्‍थानों में जाने से परहेज करेंगे.(एजेंसी से इनपुट)

VIDEO: पीएम की ओर से खातों में पैसे, लॉकडाउन में 500 रुपए की मदद

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com