Covid-19 Pandemic: प्रवासी मजदूरों के वापस लौटने से यूपी में कोरोना केसों में आया उछाल, 24 घंटे में 360 नए मामले

देश के अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के आने के सिलसिले के बीच 1230 प्रवासी श्रमिक संक्रमित निकले हैं. प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने यहां संवाददाताओं से कहा, ''वर्तमान में संक्रमण के 2130 मामले हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण के 360 नए मामले सामने आये हैं.''

Covid-19 Pandemic: प्रवासी मजदूरों के वापस लौटने से यूपी में कोरोना केसों में आया उछाल, 24 घंटे में 360 नए मामले

देश में कोरोना के केसों की संख्‍या एक लाख पांच हजार के पार पहुंच गई है

लखनऊ:

Covid-19 Pandemic: कोरोना वायरस का असर आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े प्रदेश, उत्तर प्रदेश में बढ़ रहा है. राज्‍य में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 360 नए मामले सामने आए हैं. यहां अब तक 127 लोग वायरस संक्रमण की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं. देश के अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के आने के सिलसिले के बीच 1230 प्रवासी श्रमिक संक्रमित निकले हैं. प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने कहा, ''वर्तमान में संक्रमण के 2130 मामले हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण के 360 नए मामले सामने आये हैं.'' उन्होंने कहा, ''''जब से अन्य राज्यों से भारी संख्या में प्रवासी श्रमिक एवं कामगार लौट रहे हैं तब से संक्रमण के मामले भी अधिक सामने आ रहे हैं. अब तक इस संक्रमण से 127 लोगों की मौत हो चुकी है.''

उन्होंने बताया कि जब से प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों के नमूने लेने शुरू किये हैं, मामलों की संख्या बढ रही है. आशा कार्यकर्ताओं ने प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के घर घर जाकर पांच लाख 42 हजार 543 प्रवासी श्रमिकों से संपर्क किया और 46, 142 के नमूने एकत्र किए. इनमें से 1230 प्रवासी श्रमिक संक्रमित निकले. प्रसाद ने बताया कि 13,178 लोगों को पृथक-वास केन्द्रों पर रखा गया है. बुधवार को कुल 6740 नमूनों की जांच की गई. उन्होंने बताया कि अब कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या बढकर लगभग 78, 500 हो गयी है.

प्रमुख सचिव ने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का लगातार उपयोग किया जा रहा है और स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से अब तक 26, 512 लोगों को फोन किया जा चुका है, उनमें से 74 लोग संक्रमित निकले, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. कुल 42 लोग उपचार के बाद ठीक होकर घर चले गये हैं और 401 लोग क्‍वारंटाइन सेंटरों पर हैं. प्रसाद ने बताया कि अब तक हॉटस्पाट और गैर—हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 68 लाख 72 हजार 936 घरों में तीन करोड़ 43 लाख 80 हजार से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया है और उन्हें लक्षणों के आधार पर सलाह दी गई है.

VIDEO: Red Zone में कुछ इस तरह से आगे बढ़ रही है जिंदगी



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com