कोरोना केस बढ़े तो दिल्‍ली सरकार ने 5 होटलों को निजी अस्‍पतालों के साथ अटैच किया

फैसले के अंतर्गत जिन हॉस्पिटल के साथ इन होटलों को अटैच किया गया है, वह हॉस्पिटल कोरोना के साधारण मरीजों को इन होटलों में एडमिट कर सकते हैं, लेकिन अगर मरीज की हालत गंभीर हो जाए तो हॉस्पिटल को इनको अपने यहां मुख्य अस्पताल में लाना होगा. 

नई दिल्ली:

Covid-19 Pandemic: देश की राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अहम फैसला लिया है. प्राइवेट अस्पतालों में बेड की उपलब्धता बढ़ाने के लिए दिल्ली के पांच होटलों को पांच प्राइवेट अस्पतालों के साथ अटैच किया गयायानी यह पांच होटल अब एक तरह से मौजूदा प्राइवेट हॉस्पिटल का अब हिस्सा होंगे. होटल क्राउन प्लाजा, ओखला फेस-1 अब बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर का हिस्सा होगा. होटल सूर्या, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी अब इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल का हिस्सा होगा, इसी तरह होटल सिद्धार्थ, राजेंद्र प्लेस अब डॉ बीएल कपूर मेमोरियल हॉस्पिटल का हिस्सा होगा. होटल जीवितेश, पूसा रोड अब सर गंगा राम सिटी हॉस्पिटल का और होटल शेरेटन, साकेत डिस्ट्रिक्ट सेंटर अब मैक्स स्मार्ट सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, साकेत का हिस्सा होगा.

फैसले के अंतर्गत जिन हॉस्पिटल के साथ इन होटलों को अटैच किया गया है, वह हॉस्पिटल कोरोना के साधारण मरीजों को इन होटलों में एडमिट कर सकते हैं, लेकिन अगर मरीज की हालत गंभीर हो जाए तो हॉस्पिटल को इनको अपने यहां मुख्य अस्पताल में लाना होगा. जो होटल हॉस्पिटल में तब्दील हुए हैं यहां पर एडमिट होने का रेट कुछ इस तरह होगा..

1. पांच सितारा होटल के लिए अधिकतम किराया ₹5000/व्यक्ति/दिन

2. चार और तीन सितारा होटल के लिए ₹4000/व्यक्ति/दिन से ज़्यादा किराया नहीं होगा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

. यह पैसा होटल को जाएगा जिसके बदले में होटल वह सभी सेवाएं और सुविधाएं मरीज को देंगे जो वो देते हैं. साथ ही खाना, साफ़ सफाई आदि. इसके अलावा जो हॉस्पिटल अपनी सेवाएं इन होटलों में मरीज को देंगे वह अधिकतम ₹5000/व्यक्ति/दिन ही ले सकते हैं जिसमे PPE, मॉस्क, डॉक्टर, नर्स सब का खर्चा शामिल है लेकिन अगर ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जाता है तो ₹2000 प्रति बेड प्रतिदिन का खर्चा होगा अलग से होगा. अगर मरीज को होटल की जगह हॉस्पिटल में शिफ्ट किया किया जाता है तो जो हॉस्पिटल के अपने रेट है वह लागू होंगे. अगर हॉस्पिटल चाहें तो इन होटलों में अपने स्टाफ को भी ठहरा सकते हैं लेकिन यह हॉस्पिटल को अपने खर्च पर करना होगा. गौरतलब है कि दिल्ली में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 1000 से ज्यादा नए मामले सामने आए है. पिछले चौबीस घंटों में 1106 नए मामले सामने आए हैं और देश की राजधानी में कोरोना संक्रमण के केसों की संख्‍या 17 हजार के पार (17,386) पहुंच गई है.

VIDEO: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, प्रवासी मजदूरों से किराया नहीं लें