भारत में 3 लाख के पार पहुंचे कोरोनावायरस के मामले

Coronavirus India Cases: कारोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत दुनिया में चौथे नंबर पर है. इस वायरस के लिए अभी तक कोई टीका विकसित नहीं किया गया है.

भारत में 3 लाख के पार पहुंचे कोरोनावायरस के मामले

नई दिल्ली:

Coronavirus India Cases: भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों का आंकड़ा तीन लाख के पार पहुंच गया है. शुक्रवार शाम 2903 नए मरीजों के सामने आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 3 लाख के पार चली गई. महाराष्ट्र में भारत में सबसे अधिक 97,648 मामले हैं, इसके बाद तमिलनाडु में 40,698 और दिल्ली में 34,687 मामले हैं. कारोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत दुनिया में चौथे नंबर पर है. इस वायरस के लिए अभी तक कोई टीका विकसित नहीं किया गया है.

शुक्रवार की सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान नए मरीज़ों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी के बाद भारत में कोरोनावायरस से पीड़ितों की कुल तादाद तीन लाख के करीब पहुंच गई थी. पिछले 24 घंटों में सबसे ज़्यादा 10,956 नए मरीज़ सामने आए, और एक दिन में सबसे ज़्यादा 396 मरीज़ काल के गाल में समा गए. अब तक 1,47,195 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं, जिसकी बदौलत भारत में रिकवरी रेट 49.47 प्रतिशत हो गया है. इस वक्त देश में कुल 1,41,842 सक्रिय COVID-19 मामले हैं, और भारत में अब तक कुल 8,498 लोग COVID-19 का शिकार होकर जान गंवा चुके हैं.

इस बीच भारत कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देशों की सूची में ब्रिटेन को पछाड़कर चौथे स्थान पर पहुंच गया है. भारत अब रूस, ब्राजील और अमेरिका से ही पीछे रह गया है. अमेरिका में सबसे ज्यादा 20 लाख मामले हैं. वहीं, उसके बाद ब्राजील का नंबर आता है जहां संक्रमितों की संख्या साढ़े 7 लाख है. तीसरे स्थान पर रूस है, जहां 4 लाख 93 हजार से ज्यादा केस हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस बीच केंद्र सरकार ने गुरुवार को यह कहा है कि देश में निश्चित रूप से कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हो रहा है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा, "यहां तक ​​कि भारत WHO की कम्‍युनिटी स्‍प्रेड की परिभाषा भी नहीं है. उन्‍होंने कहा कि भारत में कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हो रहा. शब्‍द 'कम्‍युनिटी स्‍प्रेड' को लेकर काफी बहस की स्थिति है. स्वास्थ्य मंत्रालय की रोजाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह दावा किया गया है.

कोरोना ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले और मौतें