दिल्ली-एनसीआर में पटाखे जलाने से आबोहवा पर ज्यादा असर नहीं : प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली-एनसीआर में पटाखे जलाने से आबोहवा पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है. दिवाली से पहले के दिनों के मुकाबले दिवाली के बाद PM10 और PM 2.5  दो से 3.5 गुना बढ़ा है. सल्फर डाइआक्साइड तय मानक में रहा और दिवाली के दिन हल्का बढ़ा. 

दिल्ली-एनसीआर में पटाखे जलाने से आबोहवा पर ज्यादा असर नहीं : प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

दिल्ली-एनसीआर में दिवाली और दशहरे के दिनों में लोगों के स्वास्थ्य पर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्र बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल कर दी है. इसमें कहा गया कि दिल्ली-एनसीआर में पटाखेजलाने से आबोहवा पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है. दिवाली से पहले के दिनों के मुकाबले दिवाली के बाद PM10 और PM 2.5  दो से 3.5 गुना बढ़ा है. सल्फर डाइआक्साइड तय मानक में रहा और दिवाली के दिन हल्का बढ़ा. 

गाजियाबाद में 40 से अधिक पटाखे की दुकानें सील

रिपोर्ट में कहा गया है कि नाइट्रस ऑक्साइड दशहरे से पहले और बाद में सीमा में ही रहा और दिल्ली-एनसीआर में हवा की क्वालिटी बहुत ज्यादा खराब नहीं हुई. दिवाली के दिन हवा की क्वालिटी खराब हुई थी. आंखों में जलन, कफ के चलते लोगों को अस्पताल ज्यादा जाना पड़ा लेकिन ये आंकड़े ज्यादा अहम नहीं हैं. पटाखे चलाने से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव पर दीर्घकालिक अध्ययन की जरूरत है. 

वीडियो : सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी पटाखा कारोबारियों को राहत

सुप्रीम कोर्ट अब दो हफ्ते बाद इस पर सुनवाई करेगा. गौरतलब है कि देशभर में पटाखों की बिक्री और पटाखे जलाने पर रोक के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कर रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड से कहा था कि वो रिपोर्ट दाखिल करे कि दिल्ली में दिवाली पर पटाखों की बिक्री पर बैन का क्या असर रहा. 
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com