भाजपा, आरएसएस को माकूल जवाब दे सकती है माकपा : सीताराम येचुरी

सीतराम येचुरी ने कहा, 'हम भाजपा को आगाह करना चाहते हैं कि अगर केरल में उसके द्वारा फैलाई जा रही हिंसा नहीं रोकी गई तो इसका माकूल जवाब दिया जाएगा.'

भाजपा, आरएसएस को माकूल जवाब दे सकती है माकपा : सीताराम येचुरी

सीताराम येचुरी की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

केरल में कथित तौर पर आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा माकपा कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में माकपा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पार्टी महासचिव सीताराम येचुरी की अगुवाई में सोमवार को भाजपा मुख्यालय तक मार्च निकाला. माकपा नेताओं ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा हमला किया जा रहा है, जिसे उन्होंने आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नफरत की राजनीति कहा. माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि केरल में अगर भाजपा, आरएसएस ने राजनीतिक हिंसा फैलाने का सिलसिला नहीं रोका तो माकपा भगवा ब्रिगेड को इसका माकूल जवाब देने में सक्षम है.

यह भी पढ़ें : अमित शाह बोले, हिंसा की राजनीति वामपंथियों के स्वभाव में है

Newsbeep

विरोध प्रदर्शन के दौरान येचुरी ने भाजपा और आरएसएस को आगाह किया कि उनकी पार्टी अब चुप नहीं बैठेगी. उन्होंने कहा, 'हम भाजपा को आगाह करना चाहते हैं कि अगर केरल में उसके द्वारा फैलाई जा रही हिंसा नहीं रोकी गई तो इसका माकूल जवाब दिया जाएगा. हम उनके आगे झुकेंगे नहीं.' विरोध प्रदर्शन में येचुरी के अलावा माकपा के पूर्व महासचिव प्रकाश करात और पार्टी पोलित ब्यूरो के अन्य सदस्यों ने भी हिस्सा लिया. भाजपा मुख्यालय के सामने इकट्ठा हुए माकपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए येचुरी ने कहा कि एक तरफ भाजपा केरल में कथित ‘वाम हिंसा’ के खिलाफ दिल्ली में अभियान चला रही है वहीं भगवा ब्रिगेड द्वारा राज्य में वामदलों के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा जारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO : केरल में प्रतिशोध की राजनीति कैसे ख़त्म होगी?
इस दौरान माकपा पोलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने रविवार को कन्नूर में माकपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर आरएसएस कार्यकर्ताओं द्वारा की गई कथित बमबारी का जिक्र करते हुए राज्य में भगवा हिंसा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधा. करात ने कहा कि अमित शाह केरल में वाम दलों के खिलाफ लगातार हिंसा भड़का रहे हैं. (इनपुट एजेंसी से)