बिहार में बेलगाम अपराधी, वैशाली में वकील की गोली मारकर हत्या, सड़क किनारे कार में मिली लाश

SP ने वारदात वाली जगह का मुआयना करने के बाद जांच के लिए FSLकी टीम को बुलाया. उधर, वकील की ह्त्या के विरोध में दूसरे वकीलों ने शहर में विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया. वकीलों के संगठन ने बढ़ते अपराध और साथी की मौत के खिलाफ शहर में पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा है.

बिहार में बेलगाम अपराधी, वैशाली में वकील की गोली मारकर हत्या, सड़क किनारे कार में मिली लाश

पटना से सटे जिले वैशाली में अपराधियों ने वकील शशिरंजन झा की गोली मारकर हत्या कर दी.

वैशाली/पटना:

बिहार (Bihar)  में बिगड़ती कानून व्यवस्था और राजधानी पटना में रुपेश मर्डर कांड की अनसुलझी गुत्थी के बीच  पटना से सटे जिले वैशाली में आज अपराधियों ने एक वकील की गोली मारकर हत्या कर दी. वकील शशिरंजन झा नए साल की डायरी और कैलेंडर बांटने इलाके में निकले थे लेकिन कल देर रात से वह लापता थे. घटना महुआ थाना के महुआ-पातेपुर सड़क पर भरतपुर सिंघाड़ा के पास की है. 

आज सुबह लोगों ने महुआ-पातेपुर मार्ग पर सड़क किनारे खड़ी कार में लाश देखी. कार का शीशा टूट हुआ था. अपराधियों ने शशि रंजन झा को बेहद करीब से गोली मारी थी. कार की सीट पर सीट बेल्ट लगी वकील के शव को देखने के बाद लोगों की भीड़ जमा हो गई. वारदात की सूचना पर पुलिस टीम के साथ SP भी पहुंचे और वारदात का मुआयना किया.

तेजस्वी यादव का सरकार पर हमला, कहा- कृपया आप सावधानीपूर्वक घर से बाहर निकलिए...

इसी बीच घटना की सूचना पाकर पातेपुर के स्थानीय बीजेपी विधायक लखविंदर पासवान भी मौका ए वारदात पहुंच गए. विधायक पुलिस वालों पर भड़कते दिखे. विधायक पुलिसवालों से कहते दिखे कि पुलिस को कोई काम नहीं रह गया है, सिर्फ दारू पकड़ना रह गया है. 

नीतीश कुमार को गुस्सा क्यों आता है?

SP ने वारदात वाली जगह का मुआयना करने के बाद जांच के लिए FSLकी टीम को बुलाया. उधर, वकील की ह्त्या के विरोध में दूसरे वकीलों ने शहर में विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया. वकीलों के संगठन ने बढ़ते अपराध और साथी की मौत के खिलाफ शहर में पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा है.


शुक्रवार को जब पत्रकारों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से राज्य में बढ़ते क्राइम के संदर्भ में पुलिस के आलाधिकारियों खासकर डीजीपी की शिकायत की थी कि वो फोन नहीं उठाते, तब सीएम ने तुरंत डीजीपी से बात कर फोन नंबर जारी करवाया था लेकिन कुछ ही घंटों के बाद उस आदेश की हवा निकल गई. डीजीपी का मोबाइल एक स्टेनो उठाता रहा. बार-बार कहने पर डीजीपी लाइन पर आए लेकिन जवाब देने के लिए एडीजी को कह दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आदेश की डीजीपी एसके सिंघल ने कुछ घंटों में ही निकाल दी हवा