अतीक अहमद गैंग का गुर्गा और 12 मामलों में वांटेड मोहम्मद अख्तर मध्य प्रदेश से गिरफ्तार, लाया जाएगा यूपी

3 जुलाई को कानपुर में विकास दुबे की गैंग के हाथों 8 पुलिसकर्मियों के जान गंवाने के बाद यूपी पुलिस अपराधियों को अब किसी भी कीमत में छोड़ने के मूड में नहीं है. इस घटना के बाद से बदमाश दूसरे राज्यों  में पनाह ले रहे हैं.

अतीक अहमद गैंग का गुर्गा और 12 मामलों में वांटेड मोहम्मद अख्तर मध्य प्रदेश से गिरफ्तार, लाया जाएगा यूपी

मोहम्मद अख्तर पर इलाहाबाद में 12 मामले दर्ज हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली :

3 जुलाई को कानपुर में विकास दुबे (Vikas Dubey) के गैंग के हाथों 8 पुलिसकर्मियों के जान गंवाने के बाद यूपी पुलिस अपराधियों को अब किसी भी कीमत में छोड़ने के मूड में नहीं है. इस घटना के बाद से बदमाश दूसरे राज्यों  में पनाह ले रहे हैं. इलाहाबाद के बाहुबली अतीक अहमद के गैंग का गुर्गा मोहम्मद अख्तर मध्य प्रदेश के शहडोल के सुहागपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया है. उसके खिलाफ 12 अपराधिक मामले इलाहाबाद में दर्ज हैं. बताया जा रहा है कि यूपी पुलिस के बिगड़े मूड को देख वह खौफ में मध्य प्रदेश भाग आया था. इस बात की जानकारी एएसपी प्रतिमा मैथ्यू ने दी है. आपको बता दें कि कानपुर के कुख्यात विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा गया था. जहां उससे पूछताछ के बाद यूपी एसटीएफ को सौंप दिया गया था.

लेकिन आज सुबह कानपुर से 30 किलोमीटर पहले भौंती नाम की जगह के पास उसका एनकाउंटर कर दिया गया. पुलिस का कहना है कि रास्ते में एक गाड़ी पलट गई थी उसी दौरान फायदा उठाकर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की थी. उसको सरेंडर करने को कहा गया था लेकिन उसने पुलिसकर्मियों से हथियार छीनकर फायर कर दिया. जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया. वहीं आज के ही दिन एक और इनामी बदमाश पन्ना यादव को भी मार गिराया गया है. उसके ऊपर 50 हजार का इनाम था. बताया जा रहा है कि वह बहराइच के अहिरनपुरवा गांव में छिपा था. तभी उसे एसटीएफ ने घेर लिया और मार गिराया. बीती 3 मई से अब तक 7 बदमाशों को ढेर किया जा चुका है. जिसमें विकास दुबे और उसके गैंग के 5 लोग शामिल हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

विकास दुबे और उसके गुर्गों ने 3 जुलाई को अपने गांव में पुलिस टीम पर हमला कर दिया था जिसमें 8 एक डीएसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी. उसके बाद से बीते 6 दिनों से पुलिस की 100 टीमें उसकी खाक छान रही थीं और करीब 7 राज्यों की पुलिस को अलर्ट पर रखा गया था. 9 जुलाई को विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन करने आया था जहां से पुलिस के मुताबिक उसे गिरफ्तार किया गया.