NDTV Khabar

85 डॉलर प्रति बैरल पहुंची कच्‍चे तेल की कीमत, सरकार के‍ लिए बढ़ सकती है मुश्किल

अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चा तेल तेज़ी से महंगा हो रहा है. ईरान पर प्रतिबंध लगाने के अमेरिकी फैसले की वजह से मंगलवार को कच्चे तेल की कीमत नवंबर 2014 के बाद सबसे उंचे स्तर 85 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गयी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
85 डॉलर प्रति बैरल पहुंची कच्‍चे तेल की कीमत, सरकार के‍ लिए बढ़ सकती है मुश्किल

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

अंतरराष्ट्रीय तेल बाज़ार में कच्चे तेल की कीमत नवंबर 2014 के बाद सबसे ऊंचे स्तर 85 डॉलर प्रति डालर पर पहुंच गयी है. वहीं बुधवार को रुपया डॉलर के मुकाबले और कमज़ोर होकर 73 के पार चला गया. साफ है कि इसका असर भारत के आयात बिल पर पड़ेगा और पेट्रोल-डीजल और महंगा हो सकता है.

अंतरराष्ट्रीय तेल बाज़ार में कच्चा तेल तेज़ी से महंगा हो रहा है. ईरान पर प्रतिबंध लगाने के अमेरिकी फैसले की वजह से मंगलवार को कच्चे तेल की कीमत नवंबर 2014 के बाद सबसे उंचे स्तर 85 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गयी. ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध 4 नवंबर से शुरू हो रहे हैं. अगर हालात ऐसे ही रहे तो आशंका है कि कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकती है.

साफ है कि भारत पर भी इसका असर बढ़ता जा रहा है. 1 जनवरी, 2018 से 3 अक्टूबर के बीच मुंबई में पेट्रोल 77.87 से बढ़कर 91.20 प्रति लीटर पहुंच गया. यानी इन 9 महीनों में 13.33 रुपये प्रति लीटर महंगा. जबकि इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 69.97 से बढ़कर 83.85 प्रति लीटर पहुंच गया यानी 13.88 रुपये प्रति लीटर महंगा.


टिप्पणियां

कच्चा तेल जहां महंगा हो रहा है वहीं रुपया कमज़ोर पड़ता जा रहा है. बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 73 के पार चला गया जो अब तक का सबसे निचला स्तर है. साफ है, सकंट बड़ा है और सरकार की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं.

VIDEO: फिर बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement