COVID-19 वैक्सीन के लिए साथ आए ऑरोबिंदो फार्मा और CSIR, मैन्युफैक्चरिंग की तैयारियां शुरू

सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया गया कि CSIR- CCMB और ऑरोबिंदो फार्मा के बीच कई नॉवल कोविड-19 वैक्सीन बनाने के लिए पार्टनरशिप हुई है. 

COVID-19 वैक्सीन के लिए साथ आए ऑरोबिंदो फार्मा और CSIR, मैन्युफैक्चरिंग की तैयारियां शुरू

CSIR-CCMB और ऑरोबिंदो फार्मा कोविड-19 वैक्सीन के निर्माण पर काम कर रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • CSIR और ऑरोबिंदो फार्मा साथ आए
  • कोविड-19 वैक्सीन डेवलप करने के लिए पार्टनरशिप
  • हैदराबाद में फैसिलिटी सेटअप की तैयारियां शुरू
हैदराबाद:

CSIR यानी Council of Scientific and Industrial Research और ऑरोबिंदो फार्मा लिमिटेड कंपनी ने मंगलवार को घोषणा की कि वो कोविड-19 के वैक्सीन बनाने के लिए साथ काम करेंगे. सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया गया कि CSIR- CCMB और ऑरोबिंदो फार्मा के बीच कई नॉवल कोविड-19 वैक्सीन बनाने के लिए पार्टनरशिप हुई है. 

इसमें बताया गया है कि CSIR की तीन लैब CCMB हैदराबाद, इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल टेक्नोलॉजी, चंडीगढ़ और इंडिय इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल बायोलॉजी, कोलकाता अलग-अलग टेक प्लेटफॉर्म के जरिए वैक्सीन तैयार कर रहे हैं. ऑरोबिंदो इन वैक्सीन के क्लीनिकल विकास और व्यावसायीकरण देखेगा.

CSIR के डीजी डॉक्टर शेखर मांडे ने कहा कि इस पार्टनरशिप से स्वदेशी वैक्सीन तैयार करने की भारत की कोशिशों को तेजी मिलेगी और इससे भविष्य में पैदा होने वाली महामारियों के खिलाफ भी तैयार होने में हमें मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते केसों को लेकर बोले PM मोदी - जब तक दवाई नहीं, तब तक...

CSIR- CCMB के डायरेक्टर डॉक्टर राकेश मिश्रा ने कहा कि संस्थान की लैब्स वैक्सीन के लिए नॉवल प्रोटीन्स पर काम कर रही हैं, जिनमें सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की जरूरत को पूरा करने की क्षमता होगी. उन्होंने कहा कि 'ऑरोबिन्दो फार्मा ने अपनी निर्माण और व्यावसायिक क्षमता को साबित किया है, हम उनके साथ पार्टरनशिप करके खुश हैं.'

ऑरोबिंदो फार्मा ने वैक्सीन के लिए इस पार्टनरशिप पर कहा कि उसे कोविड-19 महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में शामिल होने गर्व है और वो इसके निर्माण के लिए हैदराबाद में एक बड़ी फैसिलिटी तैयार कर रहा है.

इस प्रेस रिलीज में बताया गया है कि इस पार्टनरशिप के अलावा, ऑरोबिंदो पहले से COVID-19 (SARS COV-2) के लिए अपनी अमेरिकी सब्सिडियरी कंपनी Auro Vaccines के जरिए वैक्सीन पर काम कर रहा है.

Video: Oxford-AstraZeneca वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल पर रोक


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com