Cyclone Amphan: आर्मी ने पश्चिम बंगाल की मदद के लिए बढ़ाए हाथ, राहत कार्य के लिए भेजी सेना की टुकड़ी

चक्रवाती तूफान अम्फान से पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में तबाह हुई बुनियादी सुविधाओं की बहाली के लिए ममता बनर्जी की सरकार की ओर से मदद मांगने के बाद भारतीय आर्मी यहां सेना के तीन कॉलम भेज रही है.

खास बातें

  • पश्चिम बंगाल और ओडिशा में अम्फान ने मचाई थी तबाही
  • राहत कार्य के लिए आर्मी भेज रही है जवान
  • तूफान के चलते प्रभावित हुई हैं बुनियादी सुविधाएं

चक्रवाती तूफान अम्फान से पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में तबाह हुई बुनियादी सुविधाओं की बहाली के लिए ममता बनर्जी की सरकार की ओर से मदद मांगने के बाद सेना अपने  तीन कॉलम भेज रही है. पश्चिम बंगाल में तबाही का मंजर है, जहां राहत कार्य के लिए अब सेना के जवान पहुंच रहे हैं. इस तूफान के चलते 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.

पश्चिम बंगाल सरकार की गृह मंत्रालय ने शनिवार को ट्वीट करके सामान्य स्थिति की बहाली के लिए आर्मी से मदद मांगी थी, जिसके बाद आर्मी ने वहां जवान भेजने का फैसला लिया है. मंत्रालय ने कहा कि प्रभावित इलाकों में पीने का पानी, सैनिटेशन और पॉवर सप्लाई वगैरह जैसी बुनियादी सुविधाओं को बहाल करने के लिए चौबीसों घंटे काम हो रहा है. इसके लिए NDRF और SDRF की टीमें तैनात की गई हैं. लेकिन उन्हें और भी ज्यादा मदद की जरूरत है.

राज्य सरकार ने श्रमशक्ति और उपकरण प्रदान करने के लिए रेलवे और निजी क्षेत्र से भी सहायता भी मांगी है और कहा कि टीमें पहले से ही हजारों पेड़ों और इमारतों के अवशेषों को साफ करने के काम में लगी हुई हैं. 

विभाग की ओर से बताया गया है कि रेलवे, पोर्ट और प्राइवेट सेक्टर से भी मदद मांगी गई है. एक ट्वीट में बताया गया है कि पेयजल और ड्रेनेज सिस्टम को रीस्टोर करने के लिए तुरंत काम हो रहा है. पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट से लोगों पानी के पाउच बांटने को कहा है. जहां जरूरत है, वहां जेनरेटर किराए पर लिए जा रहे हैं. गिरे हुए पेड़ों को हटाने के लिए 100 से ज्यादा टीमें काम कर रही हैं.

विभाग ने बताया कि बंगाल पुलिस को किसी भी मामले को हैंडल करने के लिए अलर्ट पर रहने को कहा गया है. वहीं इस संकट से लड़ने के लिए ज्यादा से ज्यादा मैनपावर जुटाने की कोशिश की जा रही है, हालांकि, लॉकडाउन की वजह से इसमें थोड़ी मुश्किल आ रही है.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल और ओडिशा का हवाई दौरा किया था. उन्होंने बंगाल के लिए 100 करोड़ और ओडिशा के लिए 500 करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की थी.

वीडियो: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : नेशनल मीडिया में तूफान 'अम्फान' का कवरेज कम क्यों?

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com