तमिलनाडु, पुडुचेरी में चक्रवाती तूफान 'निवार' का खतरा, PM मोदी ने हरसंभव सहयोग का दिया आश्‍वासन

'निवार' के बुधवार शाम को तमिलनाडु और पुडुचेरी में दस्‍तक देने की संभावना है, इस दौरान तेज बारिश के साथ हवाएं चल सकती हैं. इन हवाओं की गति 120 किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है.

तमिलनाडु, पुडुचेरी में चक्रवाती तूफान 'निवार' का खतरा, PM मोदी ने हरसंभव सहयोग का दिया आश्‍वासन

चक्रवाती तूफान निवार के खतरे के मद्देनजर पीएम ने तमिलनाडु और पुडुचेरी के सीएम से बात की (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पुडुचेरी में आज रात 9 बजे से सुबह छह बजे तक धारा 144 लागू
  • बुधवार शाम को तमिलनाडु और पुडुचेरी में दे सकता है दस्‍तक
  • इस दौरान 120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं
नई दिल्ली:

चक्रवाती तूफान 'निवार' (Cyclone Nivar)का खतरा दक्षिण भारत के राज्‍यों पर मंडरा रहा है. बंगाल की खाड़ी पर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण दक्षिण भारत के राज्‍यों में खास ऐतहियात बरती जा रही है और निवार के कारण होने वाली संभावित तबाही को कम करने के हरसंभव उपाय किए जा रहे हैं. पुडुचेरी में जिला मजिस्‍ट्रेट ने आज रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक धारा 144 लागू करने का फैसला किया है. इसी क्रम में 26 नवंबर को पूरे पुडुचेरी रीजन में धारा 144 लागू रहेगी, इस दौरान सभी दुकानें और संस्‍थान बंद रहेंगे. दूध, पेट्रोल पंप और दवा की दुकानें जैसी जरूरी सेवाएं ही इस दौरान संचालित होंगी.

नाबार्ड ने बंगाल में अम्फन तूफान से क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे के लिए 795 करोड़ रुपये मंजूर किये

चक्रवात 'निसर्ग': तेज हवा से गिरा बिजली का खंभा, 58 साल के व्यक्ति की मौत

Newsbeep

मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार, 'निवार' के बुधवार शाम को तमिलनाडु और पुडुचेरी में दस्‍तक देने की संभावना है, इस दौरान तेज बारिश के साथ हवाएं चल सकती हैं. इन हवाओं की गति 120 किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 'निवार' तूफान के खतरे के मद्देनजर तमिलनाडु के सीएम ई. पलानीस्‍वामी और पुडुचेरी के सीएम वी नारायणसामी से बातच की और उन्‍हें केंद्र की ओर से हरसंभव सहयोग का आश्‍वासन दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राजधानी चेन्‍नई सहित तमिलनाडु के तटीय जिलों और पुडुचेरी में सोमवार रात से बारिश जारी है. मौसम विभाग के अनुसार 'निवार' बुधवार शाम 5 बजे के आसपास करईकनाल और ममालपुरम में दस्‍तक दे सकता है. निवार फिलहाल चेन्‍नई से 450 किमी दक्षिणपूर्व में केंद्रित है और अगले 24 घंटों में यह गंभीर चक्रवात में तब्‍दील हो सकता है. प्रशासन ने पेड़ों के गिरने, पावर सप्‍लाई ठप पड़ने या बाधित होने, संचार लाइनों के बाधित होने जैसी संभावित नुकसान को कम करने के लिए पूर्व तैयारी की है. कोशिश यही है कि 'निवार' से होने वाले नुकसान को कम से कम किया जाए. नेशनल डिजास्‍टर रिस्‍पांस फोर्स (NDRF) की छह टीमें पहले ही कडलोर जिले पहुंच गई हैं, दो टीमें तमिलनाडु की राजधानी चेन्‍नई में हैं.