रक्षा अधिग्रहण परिषद की बैठक में 2000 करोड़ रुपए के सैन्य साजो-सामान को खरीदने की मंजूरी

डिफेंस सेक्टर में मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने को लेकर रक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला लिया है.

रक्षा अधिग्रहण परिषद की बैठक में 2000 करोड़ रुपए के सैन्य साजो-सामान को खरीदने की मंजूरी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

डिफेंस सेक्टर में मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने को लेकर रक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला लिया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) की हुई बैठक में सेना के लिए लगभग 2000 करोड़ रुपए के सैन्य जरूरतों के सामान के खरीद की मंजूरी दे दी. ‘मेक इन इंडिया' के रक्षा अधिग्रहण परिषद (Defence Aquisition Council) ने टी-72/टी-90 टैंक के लिए मुख्य गन 125 एमएम आर्मर पायरसिंग फिन स्टेबलाइज्ड डिस्कार्डिंग सैबोट (APFSDS) आयुद्ध को देशी कम्पनी द्वारा स्वदेशी तौर पर विकसित और उत्पादन करने को मंजूरी दे दी.  

टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण : रक्षा मंत्रालय

इससे सेना की ताकत में जबरदस्त इजाफा होगा.  रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) ने भारतीय थलसेना की यंत्रवत् सुरंग लगानेवाली क्षमता को सुधारने के लिए भारतीय अनुसंधान एवं विकास परिषद (DRDO) के द्वारा विकसित एवं भारतीय उद्योग के द्वारा निर्मित ऑटोमैटिक यांत्रिक सुरंग लगानेवाली (Mechanical Mine Layer) के भी खरीद को भी मंजूरी दे दी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com