Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दलित नेता जिग्नेश मेवाणी की 'युवा हुंकार रैली' को दिल्ली पुलिस ने नहीं दी इजाजत, आज होनी थी रैली

रैली से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि 2 जनवरी को इस रैली के ऐलान के बाद से ही इसे रोकने की कोशिश की जा रही है.

दलित नेता जिग्नेश मेवाणी की 'युवा हुंकार रैली' को दिल्ली पुलिस ने नहीं दी इजाजत, आज होनी थी रैली

जिग्नेश मेवाणी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • 'युवा हुंकार रैली' को दिल्ली पुलिस ने नहीं दी इजाजत
  • दलित नेता जिग्नेश मेवाणी करने वाले थे रैली
  • 26 जनवरी की सुरक्षा के मद्देनज़र रैली को इजाजत नहीं मिली
नई दिल्ली:

दलित नेता और गुजरात से पहली बार विधायक बने जिग्नेश मेवाणी आज संसद मार्ग से पीएम निवास तक 'युवा हुंकार रैली' करने वाले हैं. हालांकि, 26 जनवरी की सुरक्षा के मद्देनज़र उनको रैली की इजाज़त नहीं मिली है. इस रैली में मेवाणी के साथ आरटीआई एक्टिविस्ट अखिल गोगोई भी शामिल होने वाले हैं. रैली से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि 2 जनवरी को इस रैली के ऐलान के बाद से ही इसे रोकने की कोशिश की जा रही है. इस रैली का ऐलान करते हुए जिग्नेश ने कहा था कि हम पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने जाएंगे. 

यह भी पढ़ें:  जिग्नेश मेवाणी को मिला मोदी सरकार के इस मंत्री का साथ, बोले- भीमा-कोरेगांव हिंसा के लिए वह जिम्मेदारी नहीं

उन्होंने कहा था कि हमारे एक हाथ में संविधान होगा और दूसरे हाथ में मनु स्मृति. मेवाणी ने कहा था कि ये रैली सामाजिक न्याय के लिए है. भीमा कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर हुई हिंसा के मामले में जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. जिसके बाद जिग्नेश मेवाणी ने बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधा था.

VIDEO: अंबेडकर का भक्‍त बताने वाले पीएम मोदी कोरेगांव हिंसा पर चुप क्‍यों हैं : जिग्नेश मेवानी
बीते दिनों जिग्नेष मेवाणी ने पीएम नरेंद्र मोदी से अपील की थी कि वह दलितों के खिलाफ हो रही हिंसा पर चुप्पी तोड़ें.