NDTV Khabar

फ्रांस से राफेल विमानों की जानिए कब शुरू होगी आपूर्ति, दसॉल्ट के सीईओ ने दिया जवाब

जानिए फ्रांस की रक्षा कंपनी दसॉल्ट(Dassault)कब से करेगी भारत को राफेल विमानों( Rafale Fighter Jets ) की आपूर्ति.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फ्रांस से राफेल विमानों की जानिए कब शुरू होगी आपूर्ति, दसॉल्ट के सीईओ ने दिया जवाब

फाइल फोटो.

खास बातें

  1. 2019 से शुरू होगी राफेल विमानों की आपूर्ति
  2. फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट के सीईओ ने दी जानकारी
  3. 2016 में भारत और फ्रांस के बीच हुई थी डील
नई दिल्ली: फ्रांस में राफेल( Rafale Fighter Jets )  बनाने वाली कंपनी दसॉल्ट (Dassault ) एविएशन भारत को 2019 से विमानों की आपूर्ति शुरू करेगी. आने वाले महीनों में कुछ नए ऑर्डर भी हो सकते हैं. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी(सीईओ) एरिक ट्रैपियर ने सोमवार को ऑरलैंडों में दुनिया के सबसे बड़े व्यापार जेट शो से पहले रायटर्स को बताया. बता दें कि भारत ने 2015 में 36 राफेल विमानों की डील की थी, मगर इस मुद्दे पर विपक्ष घोटाले का आरोप लगा रहा है. 

यह भी पढ़ें-Rafale Deal: राहुल गांधी की मुलाकात पर HAL ने खड़े किए सवाल, कर्मचारियों के 'राजनीतिकरण' पर खेद जताया

कांग्रेस लगातार साध रही निशाना
 राफेल सौदे  को लेकर सरकार के विरुद्ध कांग्रेस ने अपना अभियान तेज कर दिया है. कांग्रेस ने  दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीधे तौर पर इसमें शामिल हैं और उनके पास इसके बारे में छिपाने को काफी कुछ है.  सौदे पर मोदी की चुप्पी पर सवाल खड़ा करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता आंनद शर्मा ने दावा किया कि केवल प्रधानमंत्री को ही पता था कि ऑफसेट अनुबंध हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को नहीं दिया जाएगा. शर्मा ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह उनका (मोदी का) फैसला था. केवल उन्हें ही पता था कि वह क्या करने जा रहे थे.’’ उन्होंने कहा कि उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय महत्व के इस मुद्दे पर बोलेंगे लेकिन उन्होंने इस विषय पर लगातार चुप्पी साधे रखी जबकि अपनी सरकार के बारे में ऊंचे-ऊंचे दावे करते रहे. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री के पास राफेल सौदे पर छिपाने को काफी कुछ है. उनकी चुप्पी मौलिक प्रश्न को जन्म देती है क्योंकि वह सीधे तौर पर इसमें शामिल हैं और व्यक्तिगत तौर पर इसके लिए जवाबदेह हैं.’’

Rafale को लेकर राहुल के आरोप पर मोदी सरकार का पलटवार: जेंटलमैन फेक न्यूज फैला रहे हैं, हमारा सौदा UPA से बेहतर

राफेल सौदे को देश के इतिहास में सबसे बड़ा घोटाला होने का दावा करते हुए शर्मा ने इसकी संयुक्त संसदीय समिति द्वारा जांच की मांग दोहरायी. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की फ्रांस यात्रा पर भी सवाल खड़ा किया जिस दौरान 58,000 करोड़ रुपये के सौदे के तहत वायुसेना के लिए 36 राफेल जेट विमानों की आपूर्ति के लिए दसाल्ट एविएशन में चल रहे कामों की प्रगति का उनके द्वारा जायजा लेना शामिल था. शर्मा ने कहा कि भारत फ्रांस से जो लड़ाकू विमान खरीद रहा है, उसकी कीमत काफी बढ़ गयी है और प्रधानमंत्री को इस सौदे को लेकर उत्पन्न कई संशयों को दूर करना चाहिए. यदि इस सौदे का फोरेंसिक ऑडिट किया जाए तो और ब्योरा सामने आएगा.

टिप्पणियां
वीडियो-रफाल डील और बढ़ी रार 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement