NDTV Khabar

हेडली का नया रुख़ : नहीं मालूम इशरत के बारे में बयान NIA ने रिकॉर्ड क्यों नहीं किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हेडली का नया रुख़ : नहीं मालूम इशरत के बारे में बयान NIA ने रिकॉर्ड क्यों नहीं किया

डेविड हेडली (फाइल फोटो)

मुंबई:

26/11 के आरोपी डेविड हेडली से पूछताछ जारी है और इस दौरान एक बार फिर इशरत जहां के बारे हेडली का बयान बदलता नज़र आया। हेडली ने कहा कि इशरत जहां के बारे में उसके पास फर्स्ट हैंड नॉलेज़ नहीं थी। हेडली ने यह भी बताया कि लखवी ने उसको मुज़म्मिल भट्ट से मिलवाया था और बताया था कि अक्षरधाम और इशरत जैसे ऑपरेशन उसी (भट्ट) ने ही किए थे। हेडली का कहना है कि जो बयान उसने NIA को दिए थे उसे उसको पढ़कर नहीं सुनाया गया था। साथ ही उसने यह भी कहा कि इशरत के बारे में उसने जो बयान दिया था वह नहीं जानता कि एनआईए ने उस बात को रिकॉर्ड क्यों नहीं किया। वहीं पूछताछ कर रहे अबू जुंदाल के वकील ने दावा किया है कि हेडली ने इशरत के बारे में एनआईए को कोई बयान नहीं दिया।

'ठाकरे को सबक सिखाना जरूरी'


टिप्पणियां

हेडली ने बयान दिया कि हाफिज़ सईद ने उससे कहा था कि शिवसेना के पूर्व प्रमुख बाल ठाकरे को सबक सिखाना जरूरी है। इसके अलावा हेडली ने सईद से कहा था कि ठाकरे से जुड़ा काम वह 6 महीने में पूरा कर सकता है।  हेडली ने सीबीआई दफ्तर का वीडियो भी बनाया था।

गौरतलब है कि हेडली ने शुक्रवार को अपने बयान में कहा था कि वह बचपन से ही भारत से नफ़रत करता रहा है। साथ ही हेडली ने कहा था कि उसके पिता की मृत्यु के बाद पाकिस्तान के तात्कालिक प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी उसके घर भी आए थे। बता दें कि हेडली ने ऐसे कई बयान भी दिए हैं जो पहले के बयानों से बदले हुए थे। फरवरी की पूछताछ में उसने इशरत जहां को लश्कर की महिला फ़िदाईन बताया था और लश्कर में महिला विंग होने की बात कही थी लेकिन शुक्रवार को उसने इन दोनों बातों से इनकार कर दिया।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement