NDTV Khabar

आखिरकार नीलाम हो गई दाऊद इब्राहिम की संपत्तियां, एसबीयूटी ट्रस्ट ने खरीदा

भगोड़े डॉन दाऊद इब्राहिम की 3 संपत्तियां आखिरकार नीलाम हो ही गई. बोली लगाने वाले तकरीबन 12 लोगों में सैफी बुरहानी अपलिफ्टमेंट ट्रस्ट ने बाजी मारी.

521 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिरकार नीलाम हो गई दाऊद इब्राहिम की संपत्तियां, एसबीयूटी ट्रस्ट ने खरीदा

आखिरकार बिक गई दाऊद की प्रॉपर्टी

मुंबई: भगोड़े दाऊद इब्राहिम की 3 संपत्तियां आखिरकार नीलाम हो ही गई. बोली लगाने वाले तकरीबन 12 लोगों में सैफी बुरहानी अपलिफ्टमेंट ट्रस्ट ने बाजी मारी. सैफी बुरहानी ट्रस्ट इलाके की तकरीबन 250 इमारतों को जमींदोजकर एक नई टाउनशिप बनाने मे जुटा है. ऐसे में डॉन की तीनो सम्पत्तियों को लेना उसकी मज़बूरी थी. सुबह 10 बजे सबकी निगाहें इंडियन मर्चेंट चैम्बर में नीलामी के लिए लगने वाली बोली पर लगी थी. लेकिन डॉन की सम्पत्तियों की तक़दीर तो उस डिब्बे में बंद थी जिसमे लिफाफा बंद बोली थी. लिफ़ाफाबंद , ई-नीलामी और जाहिर बोली. कुल तीन तरीकों से लगी बोली में लिफ़ाफ़े का वजन भारी पड़ा.

यह भी पढ़ें: जबरन वसूली मामले में दाऊद का भाई इकबाल कासकर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

दोपहर 1 बजे नीलामी कराने वाली केंद्रीय एजेंसी स्मगलिंग एंड फॉरेन एक्सचेंज मैनीपुलेटर्स ऑथॉरिटी यानी साफेमा के आयुक्त पी सेल्वम गणेशन ने बताया कि सभी संपत्तियों की नीलामी हो गई. साफेमा सूत्रों के मुताबिक तीनों तरीकों से लगी बोली में 12 लोगों ने हिस्सा लिया. आमने सामने चली बोली में दिल्ली से हिस्सा लेने आये वकील भूपेंद्र भारद्वाज ने बताया कि उन्होंने रौनक अफरोज होटल सहित कुल 2 संपत्तियों पर बोली लगाई थी. जाहिर बोली और ई बोली में वो आगे थे लेकिन जब लिफाफा खुला तो सैफी बुरहानी ट्रस्ट आगे निकल गया.

आज नीलाम होंगी दाऊद इब्राहिम की संपत्तियां, ऑनलाइन भी लगेगी बोली

जबरन वसूली मामले में दाऊद का भाई इकबाल कासकर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

कितना था नीलाम होने वाली दाऊद की प्रॉपर्टी का रिजर्व प्राइस
ट्रस्ट ने आमने-सामने बोली लगाने के साथ बंद लिफाफे में भी निविदा भरा था जो सब पर भारी रहा.
नतीजा होटल रौनक अफरोज जिसकी रिजर्व कीमत 1,18,63000.00 रुपए थी वो 4 करोड़ 53 लाख में नीलाम हुआ. 
डांबरवाला बिल्डिंग जिसकी रिजर्व कीमत 1,55,76000.00 रुपए थी वो 3 करोड़ 54 लाख में नीलाम हुई.  
और शबनम गेस्ट हाउस इमारत जिसकी रिजर्व कीमत 1,21,43000.00 वो नीलाम हुई 3 करोड़ 52 लाख में.

नीलाम की गई इमारत में शबनम गेस्ट हाउस के मालिक सलमान काजी के मुताबिक ये तो होना ही था क्योंकि दाउद की तीनों संपत्तियां उसी प्रोजेक्ट का हिस्सा है जिसे सैफी बुरहानी ट्रस्ट विकसित कर रहा है. कोई बाहर का शख्स अगर आएगा तो प्रोजेक्ट में अड़ंगा बन सकता था. वैसे भी किसी भी बाहर के शख्स को भिंडी बाजार में दाऊद की संपत्ति पर कब्जा आसान नहीं है. दक्षिण मुंबई का भिंडी बाजार अंडरवर्ल्ड की पहचान रहा है, लेकिन बदलते दौर के साथ अब भिंडी बाजार भी बदल रहा है. इसलिए ये माना जा रहा है कि  वही हुआ जो इलाके के हित में था।  इलाके के लोगों की भी यही उम्मीद थी। इसलिए स्थानीय लोग हैरान नहीं बल्कि खुश हैं कि अब भिंडी बाजार का विकास हो पायेगा.

वीडियो : ​आखिरकार बिक गईं दाऊद की संपत्तियां

1993 मुंबई सीरियल धमाकों के आरोपी दाऊद इब्राहिम की जांच एजेंसी सीबीआई ने कुल 10 सम्पति जब्त की थी. उनकी नीलामी की कोशिश कई सालों से हो रही है. लेकिन डॉन के खौफ की वजह से पूरी तरहं सफलता आज तक नही मिल पाई थी. साल 2003 में दिल्ली के वाकई अजय श्रीवास्तव ने एक संपत्ति जीती थी लेकिन उन्हें आज तक उसका कब्ज़ा नही मिल पाया है. इसी तरहं साल 2015 में पूर्व पत्रकार बालाकृष्णन ने दाऊद इब्राहिम के खौफ को चुनौती देने के लिए रौनक अफ़रोज़ हॉटल पर 4 करोड़ से भी अधिक बोली लगाकर बाजी मारी थी लेकिन बाद में तय समय पर रकम जमा नहीं कर पाए. नतीजा नीलामी रद्द हो गई और जमानत के तौर पर जमा उनका 30 लाख रुपया भी जब्त हो गया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement