दोषियों की फांसी पर DCW अध्यक्ष स्वाति मालिवाल बोलीं- 7 साल के लंबे इंतजार के बाद हुई न्याय की जीत, सत्यमेव जयते

Nirbhaya Case: मालिवाल ने कहा कि निर्भया की मां ने न्याय के लिए दर-दर की ठोकर खाई. सारा देश सड़कों पर उतरा, अनशन किया, लाठी खाई. ये सारे देश की जीत है. अब हमें देश में एक कठोर सिस्टम बनाना है.

दोषियों की फांसी पर DCW अध्यक्ष स्वाति मालिवाल बोलीं- 7 साल के लंबे इंतजार के बाद हुई न्याय की जीत, सत्यमेव जयते

निर्भया के दोषियों की फांसी पर मालिवाल ने कहा- सत्यमेव जयते

खास बातें

  • निर्भया की मां ने खाई दर-दर की ठोकर: मालिवाल
  • 7 साल के लंबे इंतजार के बाद हुई न्याय की जीत: मालिवाल
  • ये सारे देश की जीत है
नई दिल्ली:

निर्भया मामले के चारों दोषियों मुकेश सिंह, अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा और पवन गुप्ता को शुक्रवार तड़के फांसी पर लटकाया गया. डॉक्टरों ने जांच-पड़ताल के बाद चारों को मृत घोषित कर दिया है. निर्भया को मिले इंसाफ पर दिल्ली महिला आयोग (DCW) की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने ट्वीट करके कहा कि 7 साल बाद निर्भया को न्याय मिल गया. मालिवाल ने ट्वीट में कहा, "7 साल के लंबे इंतज़ार के बाद आज न्याय की जीत हुई. निर्भया की मां ने न्याय के लिए दर-दर की ठोकर खाई. सारा देश सड़कों पर उतरा, अनशन किया, लाठी खाई. ये सारे देश की जीत है. अब हमें देश में एक कठोर सिस्टम बनाना है. विश्वास है बदलाव आएगा, ज़रूर आएगा. सत्यमेव जयते!"

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने निर्भया के दोषियों की फांसी पर कहा कि आज एक उदाहरण सेट किया गया है लेकिन यह काम पहले किया जा सकता था. हम लोगों को पता है कि उन्हें सजा मिलेगी, आप तारीख बढ़ा सकते हैं लेकिन आपको सजा जरूर मिलेगी. 

वहीं, दिल्ली में महिला सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना समेत अन्य लोगों ने निर्भया के दोषियों की फांसी पर तिहाड़ जेल के बाहर मिठाइयां वितरित कीं.  

बता दें कि 16 दिसंबर 2012 की रात दिल्ली में निर्भया के साथ दर्दनाक हादसा हुआ था. कोर्ट की तरफ से दोषियों को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद फांसी के लिए कई तारीखें तय हुईं, लेकिन दोषी कोई न कोई तिकड़म अपनाकर बचते रहे. गुरुवार देर रात को भी दिल्ली हाईकोर्ट में मामले को लेकर सुनवाई चली. इसके बाद दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट का भी रुख किया. इनके सारे पैंतरे फेल हो गए. इसके बाद शुक्रवार सुबह साढ़े 5 बजे दोषियों को तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में फांसी पर लटका दिया गया. यह पहला मौका है जब तिहाड़ में चार अपराधियों को एक साथ फांसी पर लटकाया गया है.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com