NDTV Khabar

केरल को विदेशी मदद पर बहस जारी, UAE ने कहा, 700 करोड़ की रक़म तय नहीं

भारत में इस बात पर बहस छिड़ी है कि यूएई से मदद ली जाए या नहीं. वहीं केरल को 700 करोड़ की मदद पर भारत में यूएई के राजदूत अहमद अलबाना का कहना है कि अब तक मदद के लिए आधिकारिक तौर पर कोई रकम तय ही नहीं की गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केरल को विदेशी मदद पर बहस जारी, UAE ने कहा, 700 करोड़ की रक़म तय नहीं

फाइल फोटो

खास बातें

  1. मदद के लिए आधिकारिक तौर पर कोई रकम तय ही नहीं की गई
  2. कितनी मदद की जाए इसका अंदाज़ा लगाया जा रहा है
  3. अंतिम राशि अभी तक तय नहीं की गई है.
नई दिल्ली: भारत में इस बात पर बहस छिड़ी है कि यूएई से मदद ली जाए या नहीं. वहीं केरल को 700 करोड़ की मदद पर भारत में यूएई के राजदूत अहमद अलबाना का कहना है कि अब तक मदद के लिए आधिकारिक तौर पर कोई रकम तय ही नहीं की गई है. इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के मुताबिक, अलबाना ने कहा कि अभी हालात का जायज़ा लेकर कितनी मदद की जाए इसका अंदाज़ा लगाया जा रहा है और अंतिम राशि अभी तक तय नहीं की गई है. वहीं भारत सरकार साफ कर चुकी है कि वह अपनी एक मौजूदा नीति के तहत बाढ़ प्रभावित केरल के लिए विदेशी सरकारों से वित्तीय सहायता स्वीकार नहीं करेगा.

केरल बाढ़: मोदी सरकार ने कहा, 600 करोड़ रुपये सिर्फ अग्रिम सहायता, आगे और भी आर्थिक मदद देंगे

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि सरकार केरल में राहत और पुनर्वास की जरूरतों को घरेलू प्रयासों के जरिए पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है. केरल में बाढ़ राहत अभियानों के लिए कई देशों ने मदद की घोषणा की है. एक ओर यूएई ने केरल को 700 करोड़ रुपये की पेशकश की है्. वहीं कतर ने 35 करोड़ रुपये और मालदीव ने 35 लाख रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की है. हालांकि कुमार ने कहा कि गैर प्रवासी भारतीयों और फाउंडेशनों जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा प्रधानमंत्री राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में भेजे गए चंदे का स्वागत है. केरल सरकार यूएई से चंदा स्वीकार करने की इच्छुक है.

सबरीमाला मंदिर हुआ बंद, मंदिर को 100 करोड़ का नुकसान

वहीं केंद्रीय मंत्री केजे अल्फ़ोंस ने NDTV से बात करते हुए कहा कि वो केंद्र सरकार से अपील करेंगे कि विदेशी मदद ली जाए. पाकिस्तान के नए पीएम इमरान ख़ान ने कहा है कि केरल के लिए मदद की ज़रूरत पड़ी तो पाकिस्तान तैयार है. इमरान ख़ान ने ट्वीट कर कहा कि अगर ज़रूरत पड़ी तो हम मानवीय सहायता के 
लिए तैयार हैं.

पाकिस्तान केरल में हर तरह की मानवीय सहायता देने को तैयार : इमरान खान

केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए देश के हर कोने से राहत का सामान भेजा जा रहा है. पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से भी कल एक ट्रेन राहत सामग्री लेकर रवाना हुई. इसमें मदद करने केरल के छात्र और कई लोग जुटे. केरल में आई भयानक बाढ़ के मामले में केरल ने कहा है कि इसकी दोषी तमिलनाडु सरकार है. केरल सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि तमिलनाडु ने मुल्लापेरियार बांध से केरल की ओर बहुत सारा पानी छोड़ा जिसके चलते बाढ़ आ गई.

केरल में बाढ़ के बाद अब दूसरी मुसीबतों ने घेरा, 13 लाख लोगों के सामने अनिश्चय की स्थिति

टिप्पणियां
हरे-भरे चाय बागानों के लिए मशहूर मुन्नार में बाढ़ के बाद तबाही का आलम है, इन चाय बागानों को फिर से अपना पुराना रुप अखित्यार करने में महीनों लग सकते हैं. बारिश और बाढ़ का केरल के दिन कारोबारों पर सबसे बुरा असर पड़ा है उनमें फूलों का कारोबार भी है... ओणम के समारोह रद्द हो जाने की वजह से फूलों के खरीदार कम हो गये हैं जिसका सीधा-सीधा असर इससे जुड़े लोगों की रोज़ी रोटी पर पड़ा है.

VIDEO: केरल को पटरी पर लाने की कोशिश

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement