NDTV Khabar

मानहानि केस: CJI ने संजय निरुपम से कहा- टीवी डिबेट में क्यों जाते हैं, वहां लड़ाई हो जाती है तो कोर्ट चले आते हैं

कोर्ट ने स्मृति ईरानी (Smriti Irani) को संजय निरुपम की एक अन्य अपील पर भी नोटिस जारी किया जो निरुपम (Sanjay Nirupam) के खिलाफ भाजपा (BJP) नेता द्वारा दर्ज मामले में जारी सम्मनों को रद्द करने से इंकार करने के हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ की गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मानहानि केस: CJI ने संजय निरुपम से कहा- टीवी डिबेट में क्यों जाते हैं, वहां लड़ाई हो जाती है तो कोर्ट चले आते हैं

संजय निरुपम मुंबई (उत्तर-पश्चिम) सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को कांग्रेस नेता संजय निरुपम की उस अपील पर नोटिस जारी किया जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ मानहानि की शिकायत रद्द करने की मांग की है. कोर्ट ने स्मृति ईरानी (Smriti Irani) को संजय निरुपम की एक अन्य अपील पर भी नोटिस जारी किया जो निरुपम (Sanjay Nirupam) के खिलाफ भाजपा (BJP) नेता द्वारा दर्ज मामले में जारी सम्मनों को रद्द करने से इंकार करने के हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ की गई थी. इस पर ईरानी से दो हफ्ते में जवाब मांगा है. मामले की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने टिप्पणी की कि आप टीवी डिबेट में क्यों जाते हैं और जब वहां लड़ाई हो जाती है तो आप कोर्ट चले जाते हैं.

दिल्ली हाईकोर्ट से संजय निरुपम को राहत नहीं मिली थी. दिसंबर 2018 में दिल्ली हाईकोर्ट ने स्मृति ईरानी द्वारा संजय निरुपम के खिलाफ दर्ज मानहानि के मामले को जारी रखा था और मामले को रद्द करने से इनकार कर दिया था. दिल्ली हाईकोर्ट ने माना था कि साल 2012 में एक टीवी शो के दौरान कांग्रेस नेता ने स्मृति ईरानी पर निजी हमले करते हुए उनके लिए अपशब्द इस्तेमाल किए, इससे उनके ऊपर मानहानि का मामला बनता है.


SC के वकील का दावा: CJI रंजन गोगोई के खिलाफ रची गई साजिश, मुझे दिया गया था 1.5 करोड़ रुपये का ऑफर

बता दें, 2019 लोकसभा चुनाव में संजय निरुपम जहां मुंबई (उत्तर-पश्चिम) सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं स्मृति ईरानी को भाजपा ने यूपी के अमेठी से उम्मीदवार बनाया है. ईरानी का अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुकाबला है. कांग्रेस की मुंबई इकाई के नेताओं के बीच लंबे समय से चली आ रही खींचतान के मद्देनजर हालही पार्टी ने संजय निरुपम तो अध्यक्ष की जिम्मेदारी से मुक्त करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री मिलिंद देवड़ा को कमान सौंपी थी. गौरतलब है कि मुंबई कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में मतभेद की खबरें लंबे समय से आ रही थीं.

अपने बयान पर खेद जता राहुल गांधी ने माना: सुप्रीम कोर्ट ने नहीं कहा था 'चौकीदार चोर है', मुझसे उत्तेजना में निकल गया

कुछ नेताओं ने निरुपम के खिलाफ खुलकर नाराजगी जाहिर की थी. हाल ही में देवड़ा और संजय निरुपम के बीच मतभेद की खबरें आई थीं. सूत्रों के मुताबिक मुंबई कांग्रेस के कई बड़े नेता संजय निरुपम के खिलाफ थे और उन्हें पद से हटाने की मांग कर रहे थे. गत 9 फरवरी को मुंबई कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कृपाशंकर सिंह और नसीम खान ने पार्टी के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे से नयी दिल्ली में मुलाकात कर पार्टी की मुंबई इकाई के प्रमुख संजय निरुपम को पद से हटाने की मांग की थी. मुंबई कांग्रेस की जिम्मेदारी से मुक्त करने की घोषणा करने वाले दिन ही पार्टी ने उन्हें मुंबई (उत्तर-पश्चिम) ने उन्हें टिकट दिया.

राहुल गांधी की नहीं रद्द होगी अमेठी से उम्मीदवारी, रिटर्निंग अधिकारी ने नामांकन को वैध ठहराया

कभी शिवसेना के तेजतर्रार नेताओं में शुमार किए गए निरुपम कांग्रेस में शामिल होने के बाद कई अपने विवादित बयानों के लिए सुर्खियों भी रहे हैं. वह मुंबई उत्तर से 2009 में लोकसभा सदस्य भी निर्वाचित हुए थे, हालांकि पिछले चुनाव में वह भाजपा के गोपाल शेट्टी से हार गए थे. शिवसेना में रहते हुए वह राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं. दूसरी तरफ, मनमोहन सिंह सरकार में मंत्री रह चुके देवड़ा इस बार भी दक्षिण मुंबई से उम्मीदवार हैं. वह इस सीट से पहले 2004 और 2009 में निर्वाचित हुए, हालांकि पिछले चुनाव में शिवसेना के अरविंद सावंत से हार गए थे.

टिप्पणियां

कांग्रेस ने दिल्ली के लिए जारी की 6 उम्मीदवारों की सूची, शीला दीक्षित का मुकाबला BJP के मनोज तिवारी से

Video: कांग्रेस ने दिल्ली के लिए जारी की उम्मीदवारों की सूची


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement