भारत चाहता है कि सीमा पर तनाव खत्म हो, सिक्किम में चीन बॉर्डर के निकट शस्त्र पूजा के बाद बोले राजनाथ

Shastra Puja on Dussehra : पिछले साल रक्षा मंत्री ने दशहरे पर फ्रांस जाकर लड़ाकू विमान राफेल की शस्त्र पूजा की थी.

भारत चाहता है कि सीमा पर तनाव खत्म हो, सिक्किम में चीन बॉर्डर के निकट शस्त्र पूजा के बाद बोले राजनाथ

Shastra Puja on Dussehra : रक्षा मंत्री चीन सीमा के निकट सिक्किम सेक्टर के नाथू ला क्षेत्र में पहुंचे

नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विजयादशमी के अवसर पर रविवार को सिक्किम के नाथू ला में चीन सीमा के निकट शस्त्र पूजा की. उन्होंने कहा कि भारत चाहता है कि सीमा पर तनाव ख़त्म हो और शांति स्थापित हो. हालांकि सीमा पर कभी नापाक हरकतें होती हैं. लेकिन मुस्तैद जवान देश की एक इंच जमीन भी किसी के हाथों में नहीं जाने देंगे.

यह भी पढ़ें- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एलएसी के हालात की समीक्षा की

रक्षा मंत्री ने सिक्किम के शेरतांग में दशहरे के मौके पर होने वाले हथियारों की यह पारंपरिक पूजा की, इस दौरान सैन्य अधिकारी और जवान भी उपस्थित थे. शेरतांग चीन से लगी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से महज दो किलोमीटर दूर है. रक्षा मंत्री द्वारा शस्त्रों, उपकरणों और हथियारबंद वाहनों की पूजा-अर्चना के दौरान पुजारियों ने मंत्रोच्चार किया. पूजा के अंत में भारतीय सीमाओं की सुरक्षा को लेकर प्रार्थना की गई. 

रक्षा मंत्री ने इस मौके पर कहा, भारतीय सेना के जवानों से भेंट करके उन्हें हमेशा बेहद ख़ुशी होती है. उनका मनोबल बहुत ऊंचा रहा है, इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है. चीन से तनाव पर रक्षा मंत्री ने कहा, भारत चाहता है कि तनाव ख़त्म हो और शांति स्थापित हो. लेकिन कभी-कभी कुछ ऐसी नापाक हरकतें होती हैं. हालांकि मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि हमारी सेना भारत की एक इंच ज़मीन भी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगी. आगे जब भी इतिहास लिखा जाएगा तो भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम की गाथा को स्वर्ण अक्षरों में लिखेगा.

पिछले साल राफेल की थी पूजा
​राजनाथ दशहरा के मौके पर लंबे समय से शस्त्र पूजा के कार्यक्रम में भाग लेते रहे हैं. गृह मंत्री रहने के दौरान भी उन्होंने ऐसे कार्यक्रम में शिरकत की. पिछले साल रक्षा मंत्री दशहरे के मौके पर फ्रांस पहुंचे थे, जहां उन्होंने भारत को मिलने वाले लड़ाकू विमान राफेल की शस्त्र पूजा की थी.

सैन्य बलों की तैयारियों का जाय़जा लिया
चीन से लगी सीमा के निकट यह शस्त्र पूजा ऐसे वक्त की गई, जब लद्दाख में चीनी सेना के साथ गतिरोध कायम है. लद्दाख के साथ सिक्किम में भी मई के दौरान भारतीय औऱ चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पश्चिम बंगाल और सिक्किम की दो दिनों के दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने सैन्य बलों की तैयारियों का जायजा लिया. सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी उनके साथ हैं.

सीमा पर सैनिकों और हथियारों की तैनाती बढ़ाई
अधिकारियों का कहना है कि शनिवार को राजनाथ ने सिक्किम सेक्टर में भारतीय सेना की 33वीं कोर में सैन्य तैयारियों की समीक्षा की थी. सुकमा स्थित यह टुकड़ी सिक्किम सेक्टर में चीन से लगी एलएसी पर सुरक्षा का जिम्मा संभालती है. रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख को सिक्किम सेक्टर में एलएसी की स्थिति की जानकारी दी गई.लद्दाख में सैन्य गतिरोध को देखते हुए भारत ने 3500 किलोमीटर से ज्यादा लंबी एलएसी पर सैनिकों और हथियारों की तैनाती बढ़ाई है. लद्दाख के साथ सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के सेक्टर में भी सैन्य तैनाती मजबूत की गई है.

Newsbeep

(एजेंसियों के इनपुट के साथ) 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com