रक्षा, गृह और कानून मंत्रालय की वेबसाइट डाउन, अधिकारी ने कहा- हैक नहीं हुई 'हार्डवेयर की समस्या'

शुरुआत में वेबसाइट के हैक होने की बात कही गई थी, लेकिन बाद में सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि यह दिक्कत तकनीकी खराबी की वजह से आई.

रक्षा, गृह और कानून मंत्रालय की वेबसाइट डाउन, अधिकारी ने कहा- हैक नहीं हुई 'हार्डवेयर की समस्या'

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हुई हैक

खास बातें

  • शुरुआत में वेबसाइट के हैक होने की कही गई थी बात
  • साइबर सुरक्षा प्रमुख ने हैकिंग से किया इनकार
  • कहा-सरकारी वेबसाइट तकनीकी गड़बड़ी की शिकार हुईं
नई दिल्ली:

रक्षा और गृह मंत्रालय समेत कई सरकारी विभागों की दर्जन भर से अधिक वेबसाइटें आज गड़बड़ियों के चलते प्रभावित हुईं जिसके लिए हैकिंग को जिम्मेदार ठहराया गया, लेकिन राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा प्रमुख ने कहा कि ऐसा तकनीकी गड़बड़ी की वजह से हुआ. अधिकारियों ने बताया कि प्रभावित वेबसाइटों की गड़बड़ियां दूर करने के प्रयास चल रहे हैं.

सरकारी वेबसाइटों में लोगों को त्रुटि संबंधी संदेश नजर आने के बाद साइबर सुरक्षा के राष्ट्रीय समन्वयक गुलशन राय ने कहा कि उनमें कुछ हार्डवेयर विफलता का पता चला है. राष्ट्रीय सूचना केंद्र इन वेबसाइटों के सर्वरों का कामकाज संभालता है. राय का बयान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के ट्वीट से भिन्न है.
 


सीतारमण ने पहले ट्वीट कर कहा था कि यह हैकिंग है. उन्होंने ट्वीट किया था, 'रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट http://mod.nic.in के हैक होने के बाद कार्रवाई की जा रही है. वेबसाइट को जल्द बहाल किया जाएगा. यह कहने की जरूरत नहीं है कि भविष्य में इस तरह की घटना को रोकने के सभी संभावित उपाय किए जाएंगे.' 

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था, 'मामले पर हमारी पैनी नजर है. राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी) उसे बहाल करने का प्रयास कर रहा है.' प्रवक्ता ने दावा किया था कि वेबसाइट पर कुछ चीनी शब्द नजर आये जो चीनी हैकरों की संभावित संलिप्तता का संकेत करते हैं. वैसे सीतारमण के ट्वीट के कुछ ही घंटे बाद एनआईसी ने ट्वीट कर कहा कि वेबसाइट हैक नहीं हुई. आज करीब ढाई बजे से कुछ तकनीकी समस्या आ रही है. एनआईसी ने भी ट्वीट कर यह सफाई भी दी कि रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर जो चीनी शब्द नजर आ रहे थे वह इस्तेमाल में लाये जा रहे प्रबंधन सॉफ्टवेयर द्रुपल का 'डिफॉल्ट लोगो' था. 

वेबसाइटों में आ रही परेशानी पर स्थिति साफ करते हुए राय ने कहा कि ये दोपहर से बंद है. स्टोरेज एरिया नेटवर्किंग सिस्टम की विफलता की वजह से इन वेबसाइटों में समस्या आ रही है. साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में 1998 से काम कर रहे राय ने कहा कि इस समस्या को दूर किया जा रहा है. यह सिर्फ हार्डवेयर के फेल होने का मामला है. साइबर सुरक्षा इकाई के प्रमुख ने कहा, 'न तो हैकिंग हुई है न ही यह साइबर हमला है.' 

VIDEO: डोकलाम में फिर चीनी सैनिक तैनात

इससे पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि पाकिस्तान के और चीन के हैकर्स ने भारत सरकार की वेबसाइट और राज्य सरकार की वेबसाइट को हैक करने की कोशिश की है और उसमें कामयाब भी हुए हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com