NDTV Khabar

दिल्‍ली की आबोहवा में थोड़ा सुधार, कंस्ट्रक्शन के काम पर लगी रोक

दिल्ली की आबोहवा में थोड़ा सुधार दिख रहा है. पिछले दो दिनों के मुताबिक़, गुरुवार को हवा में धूल कम दिखी. शुक्रवार को आसमान थोड़ा साफ़ लग रहा है हालांकि अगले तीन दिनों तक ऐसा ही हाल रहने की बात कही गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्‍ली की आबोहवा में थोड़ा सुधार, कंस्ट्रक्शन के काम पर लगी रोक

फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली की आबोहवा में थोड़ा सुधार दिख रहा है. पिछले दो दिनों के मुताबिक़, गुरुवार को हवा में धूल कम दिखी. शुक्रवार को आसमान थोड़ा साफ़ लग रहा है हालांकि अगले तीन दिनों तक ऐसा ही हाल रहने की बात कही गई है. लेकिन आरके पुरम, मंदिर मार्ग और आनंद विहार में वायु प्रदूषण 'खतरनाक' स्‍तर पर है. इससे पहले गुरुवार को उपराज्यपाल ने बिगड़ते हालात को देख एक बैठक की, जिसमें तय हुआ कि दिल्ली-एनसीआर में कंस्ट्रक्शन के काम पर फौरन रोक लगे. मेट्रो, एमसीडी, एनएचएआई, पीडब्‍ल्‍यूडी सभी अपने इलाक़ों में मिट्टी पर पानी छिड़कें. इमारत निर्माण की खुली सामग्री पर कार्रवाई हो. 

दिल्ली में हवा की हालत सुधरी, रविवार तक निर्माण कार्यों पर पूरी तरह रोक

वहीं केरल में भारी बारिश से बाढ़ से हालात बन गए हैं. कई जगहों पर फ़्लैश फ्लड और लैंडस्लाइड हुई है. पिछले 24 घंटे में यहां 19 लोगों की जान जा चुकी है. सबसे ज़्यादा प्रभावित कोझिकोड जिला जहां अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है. कोझिकोड के अलावा कन्नूर, अलापुझा और मल्लपुरम ज़िले बुरी तरह प्रभावित हैं. कई इलाक़ों में पूरी की पूरी सड़क बह गई है. एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और स्थानीय पुलिस बल राहत और बचाव के काम में लगे हुए हैं. मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक यहां भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. एहतियातन स्कूलों को भी बंद रखा गया है.
 
pollution

दिल्ली में तीन दिन तक बनी रह सकती है धूल भरी हवा, यह है कारण...

मणिपुर में भी फ्लैश फ्लड ने जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. यहां पांच लोगों की मौत हो गई है. 150 गांवों के क़रीब डेढ़ लाख लोग प्रभावित हैं. 12000 घर तबाह हो गए हैं. हजारों लोगों ने राहत शिविरों में शरण ले रखी है. राहत और बचाव का काम जारी है. लगातार हो रही भारी बारिश से त्रिपुरा में हालात बिगड़ गए हैं. त्रिपुरा में पिछले 24 घंटे में बाढ़ ने 4 लोगों की जान ले ली है. 3,500 परिवार बेघर हो गए हैं. हज़ारों लोगों ने राहत शिविरों में शरण ले रखी है. एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, बीएसएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं. 

प्रदूषण से घिरी दिल्ली; शहर में गर्म हवा और धूल के गुबार, पूर्वोत्तर में बाढ़

असम भी भारी बारिश की मार झेल रहा है. बाढ़ और लैंडस्लाइड की वजह से यहां तीन लोगों की मौत हो गई है. सात ज़िलों के एक लाख 66 हज़ार से ज़्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. 35000 से ज़्यादा लोगों ने राहत शिविरों में शरण ले रखी है. ऊपरी असम और बरक वैली के ज़्यादातर इलाके बाढ़ की चपेट में हैं. ब्रह्मपुत्र और डिफलु नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है. कई जगहों पर भूस्खलन की वजह से बरक वैली और त्रिपुरा के बीच ट्रेन सेवा बंद कर दी गई है.

टिप्पणियां
VIDEO: राजस्थान की आंधी से दिल्ली में आफत


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement