NDTV Khabar

Delhi के साथ सबसे ज्यादा प्रदूषित हैं ये शहर, प्रदूषण से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण (Delhi Air Pollution) के बढ़ते स्तर के कारण लोगों को सांस लेने में समस्या हो रही है. दिल्ली एनसीआर के कई इलाकों में हवा की क्वॉलिटी गिरती जा रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Delhi के साथ सबसे ज्यादा प्रदूषित हैं ये शहर, प्रदूषण से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

Delhi Pollution: दिल्ली के कई इलाकों में प्रदूषक तत्व का स्तर पीएम 2.5 है.

खास बातें

  1. दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण का स्तर बढ़ा है.
  2. कई इलाकों में प्रदूषक तत्व का स्तर पीएम 2.5 है.
  3. प्रदूषण के चलते लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है.
नई दिल्ली: दिवाली से पहले ही दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण (Delhi Air Pollution) का स्तर बढ़ गया है. बढ़ते प्रदूषण के चलते दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. दिल्ली एनसीआर के कई इलाकों में हवा की क्वॉलिटी (Delhi Air Quality) गिरती जा रही है. कई इलाकों में प्रदूषक तत्व का स्तर पीएम 2.5 है. बता दें कि पीएम 2.5 बारिक कण होते हैं, पीएम 2.5 बढ़ने पर ही धुंध बढ़ती है. दिल्ली के नरेला, वजीरपुर, बवाना, मुंडका और रोहिनी इलाके में प्रदूषक तत्व पीएम 2.5 स्तर पर है. इन इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (Air Quality Index Delhi) 300 से 450 के बीच है. आपको बता दें कि दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने का मुख्य कारण पंजाब और हरियाणा में जलाई जाने वाली पराली है. रविवार से हवा का रुख पंजाब-हरियाणा से दिल्ली (Delhi) की तरफ है, जिसके चलते रातों रात दिल्ली में प्रदूषण (Air Pollution In Delhi) का स्तर बढ़ा है. साथ ही दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के लिए गाड़ियां भी जिम्मेदार हैं.

मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ की रिपोर्ट में दिल्ली में प्रदूषण के पांच कारण बताए गए हैं. इनमें पहला कारण बाहरी राज्यों से आने वाली करीब 45 लाख गाड़ियां और दिल्ली में जरुरी सामान पहुंचाने वाले ट्रक हैं. प्रदूषण का दूसरा कारण उद्योग और लैंडफिल साइट हैं जिनके चलते करीब 23 फीसदी प्रदूषण होता है. तीसरा कारण दिल्ली की हवा में मिला हुआ दूसरे राज्यों का धूल, कण और धुंआ है. चौथा कारण दिल्ली में चलने वाला कंस्ट्रक्शन और लोगों द्वारा जलाने वाला कूड़ा है. इनसे दिल्ली में करीब 12 फीसदी प्रदूषण होता है. प्रदूषण का पांचवा कारण दिल्ली के रिहायशी इलाके हैं, जहां रसोई से निकलने वाले धुंए, DG सेट जैसी चीजों से करीब 6 फीसदी प्रदूषण होता है.

दीवाली से पहले ही दिल्ली में बिछी धुंध की चादर, प्रदूषण सुरक्षित सीमा से 20 गुना अधिक

राजधानी दिल्ली के साथ ही देश के कई शहरों में प्रदूषण बेहद खतरनाक स्तर पर है. देश के 10 सबसे पॉल्यूटेड शहरों की बात करें तो इनमें दिल्ली, बुलंदशहर, बाघपत, कानपुर, गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा, मुजफ्फरपुर और लखनऊ शामिल है. इन सभी शहरों में प्रदूषक तत्व पीएम 2.5 स्तर है. इन शहरों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 340 से 450 के बीच है.

देश के 10 सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर (Top 10 Polluted Cities)
dgl8kkf4


आइये जानते हैं इस प्रदूषण से बचने के तरीके
1. बढ़ते प्रदूषण का बड़ा कारण गाड़ियां हैं, ऐसे में कम से कम वाहन का इस्तेमाल करें. आप आने जाने के लिए सार्वजनिक परिवहन का उपयोग कर सकते हैं.
2. घर के बाहर मास्क लगाकर निकलें. प्रदूषण से बचने के लिए एन-95 से ऊपर के ही मास्क खरीदने चाहिए. ये मास्क आपको सूक्ष्म कणों से भी बचाते हैं.
3. खतरनाक प्रदूषण स्तर पर घर के बाहर कसरत करने से बचें.
4. घर में साफ सफाई का ध्यान रखें, धूल और मिट्टी जमा न होने दें.
5. ऐसे प्रदूषण में कई लोगों को सांस लेने में ज्यादा पेरशानी होती है, ऐसे में डॉक्टर को जरूर दिखाएं.
6. अपने घर में अच्छा वातावरण बनाएं, घर में पौधे लगाएं जिससे आपको शुद्ध हवा मिल सके.
7. ऐसे वातावरण में बाहर से घर वापस आने के बाद  मुंह, हाथ और पैर साफ पानी से धोएं.
8. आप अपने घर में शुद्ध हवा के लिए एयर प्यूरीफायर लगवा सकते हैं.

टिप्पणियां
विशेषज्ञों का दावा- रोजाना 15 से 20 सिगरेट पीने के बराबर है दिल्ली-NCR की हवा का असर

VIDEO: दमघोंटू हुई दिल्ली की हवा, धुंध की चादर बिछी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement