यह ख़बर 05 नवंबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

एनडीटीवी से दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय की खास बातचीत

एनडीटीवी से दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय की खास बातचीत

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय से बात करते हुए रवीश कुमार

नई दिल्ली:

दिल्ली का चुनाव किसी एक चेहरे पर नहीं लड़ा जाएगा। बीजेपी इस चुनाव को सामूहिक नेतृत्व में अपनी विचारधारा और केंद्र सरकार के कामों के आधार पर लड़ेगी। ये कहना है कि दिल्ली प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय का। हमारे कार्यक्रम प्राइम टाइम में रवीश कुमार के सवाल पर सतीश उपाध्याय ने कहा कि वो ख़ुद भी किसी दौड़ में नहीं हैं और पार्टी ही उनके बारे में कोई फ़ैसला करेगी।

सतीश उपाध्याय दिल्ली के चुनाव को मोदी बनाम केजरीवाल का रंग देने के पीछे मीडिया की कोशिश देख रहे हैं। उनके मुताबिक मोदी और केजरीवाल के बीच कोई तुलना ही नहीं है और ऐसी तुलना किए जाने पर उनकी पार्टी को ऐतराज़ है।

सतीश उपाध्याय का मानना है कि अरविंद केजरीवाल प्रधानमंत्री बनने के लिए दिल्ली की सत्ता छोड़कर भागे और इसमें नाकाम रहने के बाद उन्होंने दिल्ली में दोबारा सरकार बनाने की संभावना तलाशी।

सतीश उपाध्याय ने सफ़ाई दी कि उनकी पार्टी ने और पार्टी अध्यक्ष के तौर पर ख़ुद उन्होंने कभी दिल्ली में सरकार बनाने की कोशिश नहीं की। वो मानते हैं कि पार्टी में कई लोग चाहते थे कि नए चुनाव न हों लेकिन पार्टी ने सामूहिक तौर पर फ़ैसला किया कि वो जोड़तोड़ से सरकार नहीं बनाएगी।

Newsbeep

दिल्ली के मौजूदा हाल के लिए वो कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को ज़िम्मेदार मानते हैं। दिल्ली में चुनाव से पहले सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिशों के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि बवाना और त्रिलोकपुरी में शांति कायम करने में उनकी पार्टी और उसके नेताओं की अहम भूमिका रही है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीजेपी दिल्ली के नए चुनावों में किसी को कमज़ोर आंक कर नहीं चल रही है और इसी के आधार पर वो जीत के लिए अपनी रणनीति तैयार करने में जुटी है।