कोरोना का सामना करने को दिल्‍ली सरकार ने कमर कसी, यह है CM अरविंद केजरीवाल का 'फाइव T' प्‍लान

केजरीवाल ने कहा कि जो देश कोरोना वायरस की जांच के लिए टेस्‍ट करने में आगे रहे, उन्‍होंने इस संक्रमण को कंट्रोल किया. इसके लिए 'फाइव T' प्‍लान तैयार किया है, जिसे टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीम वर्क और ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग के तहत अमली जामा पहनाया जाएगा.

कोरोना का सामना करने को दिल्‍ली सरकार ने कमर कसी, यह है CM अरविंद केजरीवाल का 'फाइव T' प्‍लान

कोरोना के खिलाफ जंग के लिए 5 स्टेप का प्लान तैयार किया गया है

खास बातें

  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने दी जानकारी
  • एक लाख से ज्‍यादा टेस्‍ट की है तैयारी
  • कोरोना के खिलाफ 5 स्टेप का प्लान तैयार
नई दिल्ली:

Coronavirus Outbreak: दिल्ली में कोरोना वायरस की चुनौती का सामना करने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने फाइव स्‍टेप प्‍लान तैयार किया है. इसके तहत रणनीति को अंतिम रूप दे दिया है, इसके अंतर्गत देश की राजधानी में अगले कुछ दिनों में एक लाख से ज्यादा टेस्ट किए जाएंगे. रैंडम टेस्टिंग के तहत कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की तलाश की जाएगी. रैंडम टेस्टिंग करने वाला दिल्ली देश का पहला राज्य होगा. देश की राजधानी पर मंडरा रहे बड़े खतरे को देखते हुए किया जा रहा है. यह जानकारी दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दी. उन्‍होंने बताया कि कोरोना के खिलाफ जंग के लिए जो 5 स्टेप का प्लान तैयार किया गया है.

केजरीवाल ने कहा कि जो देश कोरोना वायरस की जांच के लिए टेस्‍ट करने में आगे रहे, उन्‍होंने इस संक्रमण को कंट्रोल किया. इसके लिए 'फाइव T' प्‍लान (5T plan)तैयार किया है, जिसे टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीम वर्क और ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग के तहत अमली जामा पहनाया जाएगा. केजरीवाल का 'फाइव T' प्‍लान इस प्रकार है.. 

1. टेस्टिंग: सीएम ने कहा कि जिन देशों में कोरोना की बड़े पैमान पर टेस्टिंग नहीं की, वहां कोरोना का खतरा बढ़ा. साउथ कोरिया जैसे देशों ने बड़े पैमान पर टेस्टिंग करके इस खतरे पर काबू पाया. देश की राजधानी में अगले कुछ दिनों में एक लाख से ज्यादा टेस्ट किए जाएंगे. हमने 50 हज़ार लोगों के टेस्ट के लिए आर्डर किया है. एक लाख लोगों के रैपिड टेस्ट के लिए किट्स आर्डर कर दी है. यह किट शुक्रवार से आनी शुरू होगी. दिल्‍ली में कोरोना के निजामुद्दीन जैसे हॉट स्पॉट में रैपिड टेस्ट कराएंगे.

1. ट्रेसिंग: सीएम ने बताया कि जो कोरोना पॉजिटिव निकलेगा उसको प्रापर तरीके से ट्रेस करेंगे. अभी तक ट्रेसिंग अच्छी चल रही है, अब इसमें पुलिस की भी मदद लेंगे. पुलिस को 27,702 लोगों के फ़ोन नंबर  देकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं.मरकज़ के लोगों के 2 हज़ार नंबर भी पुलिस को देंगे. इसी तरह निजामुद्दीन मरकज़ वाले जहां गए थे वहां सील करेंगे.

3. ट्रीटमेंट: सीएम ने बताया कि इलाज यानी ट्रीटमेंट के लिए हमारे पास तीन हज़ार बेड तैयार हैं, इसमें 2450 सरकारी हैं. बाकी प्राइवेट मैक्स साकेत, गंगाराम और अपोलो में हैं. आज दिल्ली में 2950 बेड हैं, 525 मरीज हैं.अगर 3,000 से ज़्यादा मरीज हुए तो इसकी प्‍लानिंग भी हमने की है. अगर 30,000 एक्टिव मरीज भी दिल्ली में हुए तो उसकी प्लानिंग हमने की है.8 हज़ार हॉस्पिटल बेड, 12 हजार होटल के कमरे टेकओवर करेंगे. 10 हज़ार मरीज़ धर्मशाला और बैंक्वेट में रहेंगे.30 हज़ार मरीज होने पर 400 वेंटीलेटर की ज़रूरत पड़ेगी

4. टीम वर्क: सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना का अकेले कोई सामना नहीं कर सकता. इसके लिए टीम वर्क से काम होगा. सरकार एक टीम की तरह काम कर रही हैं. देश की सभी राज्य  सरकारों को मिलकर काम करना होगा

5. ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग: उन्‍होंने बताया कि जो प्लान बनाया है वो ठीक से लागू हो इसकी पूरी जिम्मेदारी मेरी है. अगर कोरोना से 3 कदम आगे रहेंगे तो हम यह लड़ाई जरूर जीतेंगे.

Made with Flourish
वीडियो: कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार की आक्रामक रणनीति

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com