NDTV Khabar

सरकारी एजेंसियों से दिल्ली महिला आयोग ने की अपील- बलात्कारियों का ना करें महिमामंडन

दिल्ली महिला आयोग ने सभी सरकारी एजेंसियों को बलात्कारियों या महिलाओं के खिलाफ किसी तरह के अपराध में दोषी ठहराये गए व्यक्ति को अपनी प्रचार सामग्री में महिमामंडित करने के प्रति आगाह किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकारी एजेंसियों से दिल्ली महिला आयोग ने की अपील- बलात्कारियों का ना करें महिमामंडन

डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल

खास बातें

  1. दिल्ली महिला आयोग ने सरकारी एजेंसियों से की अपील
  2. 'बलात्कारियों को अपने प्रचार में ना करें महिमामंडित'
  3. 'देशभर में ''निर्भयाओं'' की भावनाओं को आहत नहीं करें'
नई दिल्ली:

दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) ने रविवार को सभी सरकारी एजेंसियों को बलात्कारियों या महिलाओं के खिलाफ किसी तरह के अपराध में दोषी ठहराये गए व्यक्ति को अपनी प्रचार सामग्री में महिमामंडित करने के प्रति आगाह किया. साथ ही, आयोग ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी पीड़िता की भावनाएं आहत नहीं हों. डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने कहा, 'सभी सरकारी एजेंसियों को अपने कामकाज की निगरानी कर सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी परिस्थिति में वे किसी बलात्कारी का महिमामंडन नहीं करें और देशभर में ''निर्भयाओं'' की भावनाओं को आहत नहीं करें.

नवीन जयहिंद के तप को लेकर 'आप' नेताओं के बीच हो रही खींचतान पर भड़कीं स्वाति मालीवाल, कही यह बात...

दरअसल, जुलाई में पंजाब राज्य चुनाव आयोग ने कुछ ही दिन पहले मतदाताओं को वोट डालने के प्रति जागरुक करने के लिये अपने होर्डिंग्स में 2012 के निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले में दोषी ठहराये गए मुकेश सिंह की तस्वीर का इस्तेमाल किया था. आयोग ने इसे लेकर चुनावी संस्था को नोटिस जारी कर इस पर उसका स्पष्टीकरण मांगा.


उन्नाव गैंगरेप पीड़िता से मिलने लखनऊ पहुंचीं स्वाति मालीवाल, बोलीं- लड़की को न्याय दिलाने की लड़ेंगी लड़ाई...

इसके जवाब में चुनाव आयोग ने कहा कि उसने राज्यों एव केंद्रशासित प्रदेशों के सभी राज्य निर्वाचन अधिकारियों को पोस्टर, बैनर और विज्ञापन आदि के लिए दृश्यों के चयन में बहुत सावधान रहने का निर्देश दिया है. डीसीडब्ल्यू ने चुनाव आयोग को 22 जुलाई को नोटिस जारी किया था.

टिप्पणियां

VIDEO : दिल्ली मेट्रो में फ्री सफर पर अब तक नहीं हुआ अधिकारिक फैसला



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement