Delhi में कोरोना के 45 फीसदी बेड खाली, अभी और बढ़ाई जाएगी संख्या : सत्येंद्र जैन

दिल्ली में पिछले 24 घंटों के दौरान 5879 पॉजिटिव ( Covid Positive Caes) केस आए हैं. पॉजिटिविटी रेट 12% के करीब हैं, यानी 100 जांच में 12 मरीज मिल रहे हैं, जबकि पहले यह दर 15 फीसदी थी.

Delhi में कोरोना के 45 फीसदी बेड खाली, अभी और बढ़ाई जाएगी संख्या : सत्येंद्र जैन

Delhi Corona Virus Cases Update : सत्येंद्र जैन ने कहा, निजी अस्पतालों में बेड क्षमता बढ़ाई जाएगी

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना वायरस (Delhi Corona Virus Cases) के बढ़ते मरीजों के बीच स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा है कि राजधानी में बेड को लेकर कोई संकट नहीं है. जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के आरक्षित बेड बढाकर 17292 बेड कर दिए हैं और इनमें से 7700 बेड खाली हैं, जो कुल संख्या का 45 फीसदी हैं.

Newsbeep

दिल्ली में पिछले 24 घंटों के दौरान 5879 पॉजिटिव ( Covid Positive Caes) केस आए हैं. पॉजिटिविटी रेट 12% के करीब हैं, यानी 100 जांच में 12 मरीज मिल रहे हैं, जबकि पहले यह दर 15 फीसदी थी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पिछले 3-4 दिन में 400 से ज़्यादा ICU बेड बढ़ाए गए हैं और अभी और संख्या और बढ़ाई जाएगी. एप पर बेड खाली दिखने के बावजूद न मिलने के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ICU बेड गंगाराम में फुल हैं. AIIMS में इसकी पता की जाएगी. निजी अस्पतालों में भी दिक्कतों के सवाल पर जैन ने कहा कि हमने प्राइवेट में 250 ICU बेड बढ़ाने का आदेश दिया गया है. दिल्ली सरकार के अस्पतालों में 650 और केंद्र द्वारा 750 बेड बढ़ाए जा रहे हैं. अगले 2-4 दिन में उपलब्धता अपने आप बढ़ जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कुछ बाजार में हॉकर्स और अनाधिकृत स्टॉल को हटाने के आदेश पर जैन ने कहा कि जो स्टॉल हैं जिनको allowed है उन्हें कोई दिक्कत नहीं है. कुछ लोग दुकान के अंदर सारा सामान न रखकर दुकान के बाहर रख लेते हैं, इससे फुटपाथ पर भीड़ हो जाती है. उन्हें कहा गया है कि दुकान के अंदर रखें वरना फुटपाथ पर भीड़ हो जाती है. स्थानीय पर जिन बाजार  में ऐसा करना ज़रूरी लगेगा वहां किया जाएगा. स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि वायरस कार्ड की कोई मेडिकल वैधता नहीं है. कोरोना से मारे गए शवों के अंतिम संस्कार के इंतजाम पर स्वास्थ्य मंत्री जैन ने कहा कि नगर निगम से बात की गई है. अंतिम संस्कार वाली जगह उनके अधीन आती है. उन्होंने आश्वासन दिया गया है कि उन्हें कोई दिक्कत नहीं आएगी.