दिल्ली में कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा ढाई लाख के पार

Delhi Coronavirus Cases: दिल्ली में कोरोना संक्रमित होने के बाद स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 2,16,401 हुई, शहर में 3816 नए मामले सामने आए

दिल्ली में कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा ढाई लाख के पार

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

Delhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण का आंकड़ा ढाई लाख के पार हो गया है. दिल्ली में मंगलवार को समाप्त 24 घंटे में कोरोना के 3816 नए मामले सामने आए. इनके साथ कुल मामले 2,53,075 हो गए. इन 24 घंटों में 37 मरीजों की मौत हो गई. अब तक कुल 5051 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 3097 लोग ठीक हुए. अब तक कोरोना संक्रमित होने के बाद स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 2,16,401 हो चुकी है.

दिल्ली में बीते 24 घंटे में 59,013 (RT-PCR- 9459, एंटीजन- 49,554) टेस्ट हुए. संक्रमण दर 6.47 फीसदी (पिछले 24 घंटे के आंकड़े के आधार पर) है. रिकवरी रेट- 85.5 फीसदी और सक्रिय मरीजों की दर 12.5 फीसदी है.

दिल्ली में अब कोरोना डेथ रेट 2 फीसदी है और  सक्रिय मरीजों की संख्या 31,623 है. होम आइसोलेशन में 18,464 मरीज हैं. दिल्ली में अब तक कुल 26,37,753 टेस्ट हुए. शहर में कन्टेनमेंट जोनों की संख्या 1937 है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में एक दिन में रिकॉर्ड 1,01,468 लोगों ने कोरोना वायरस को मात दी है और महामारी से उबरे लोगों (Recovered Patients) की संख्या अब लगभग 45 लाख हो गई है. इसके साथ ही स्वस्थ होने वालों की दर बढ़ कर 80.86 प्रतिशत हो गई है. मंत्रालय के अनुसार देश में कोविड-19 महामारी को मात देकर ठीक हुए लोगों की संख्या अब 44,97,867 हो गई है और इनमें से 79 प्रतिशत लोग नौ राज्यों तथा एक केंद्रशासित प्रदेश-महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, ओडिशा, दिल्ली, केरल, पश्चिम बंगाल और पंजाब से हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कोरोना वायरस से विदेशों में रह रहे 373 भारतीयों की मौत हुई

महाराष्ट्र महामारी से लोगों के ठीक होने के मामले में लगातार आगे बना हुआ है और इस राज्य में एक दिन में 32 हजार से अधिक लोग (31.5 प्रतिशत) ठीक हुए हैं. वहीं, आंध्र प्रदेश में एक दिन में 10 हजार से अधिक लोग ठीक हुए हैं. मंत्रालय ने कहा, ‘‘पिछले चार दिन से लगातार बड़ी संख्या में लोग ठीक हो रहे हैं. अधिकतम लोगों के ठीक होने की भारत की महत्वपूर्ण उपलब्धि ने इसे इस मामले में विश्व का शीर्ष देश बना दिया है.''इसने कहा कि बड़ी संख्या में लोगों का महामारी को मात देना इस बात का साक्ष्य है कि केंद्र के नेतृत्व में अग्र-सक्रिय कदमों और ‘जांच, संपर्कों का पता लगाने तथा उपचार' की क्रमिक रणनीति सफल हो रही है.