दिल्ली में पहली बार कोरोना के नए मामले 5000 के पार, पिछले 24 घंटों में 5673 नए मरीज सामने आए

पिछले 24 घंटों में यहां 5673 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 3,70,014 हो गई. इसके साथ ही राजधानी में पॉजिटिविटी रेट भी 9.37 % हो गई है.

दिल्ली में पहली बार कोरोना के नए मामले 5000 के पार, पिछले 24 घंटों में 5673 नए मरीज सामने आए

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना कहर बरपा रहा है और यहां पिछले कुछ समय से नए मामलों का हर दिन नया रिकॉर्ड बन रहा है. बुधवार को कोरोना के नए मामलों का सारा रिकॉर्ड टूट गया और पहली बार दिल्ली में 5000 से ज्यादा नए मरीज सामने आए. पिछले 24 घंटों में यहां 5673 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 3,70,014 हो गई. इसके साथ ही राजधानी में पॉजिटिविटी रेट भी 9.37 % हो गई है. यहां रिकवरी रेट- 90.33% है जबकि एक्टिव मरीज़ों की दर 7.93% और मृत्यु दर 1.73% है.

पिछले 24 घंटे में यहां 40 और लोगों की मौत इस जानलेवा वायरस की वजह से हो गई. इसके साथ ही यहां मृतकों की संख्या बढ़कर 6396 हो गई है. हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान 4128 मरीज ठीक होकर अस्पताल से घर भी लौटे जिन्हें मिलाकर अब तक कुल 3,34,240 मरीज ठीक हो चुके हैं.

मनीष सिसोदिया का ऐलान, दिल्ली में अगले आदेश तक बंद रहेंगे सभी स्कूल

Newsbeep

बता दें कि भारत (Coronavirus India Report) में भी हर रोज COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं. संक्रमितों की संख्या करीब 80 लाख पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 79,90,322 हो गई. पिछले 24 घंटों में (मंगलवार सुबह 8 बजे से लेकर बुधवार सुबह 8 बजे तक) कोरोना के 43,893 नए मामले सामने आए. बीते 24 घंटों में 58,439 मरीज ठीक हुए हैं. इस दौरान 508 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है. अब तक कुल 72,59,509 मरीज ठीक हो चुके हैं. 1,20,010 लोगों की जान गई है. कोरोना के एक्ट‍िव मामलों की संख्या करीब 6 लाख है. यह संख्या 22 अगस्त के बाद पहली बार 7 लाख से नीचे आई है. इस समय देश में 6,10,803 एक्टिव केस हैं. रिकवरी रेट की बात करें तो यह मामूली बढ़ोतरी के बाद 90.85 प्रतिशत पर पहुंच गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: Covid-19: क्या दिल्ली पर भारी पड़ रही है लोगों की लापरवाही?