दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा,'ऑनलाइन शिक्षा स्कूल का विकल्प नहीं है'

कोविड-19 महामारी के कारण ऑनलाइन या सेमी-ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली की समीक्षा करने के लिए सिसोदिया चिराग दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में शिक्षकों और अभिभावकों से चर्चा कर रहे थे.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा,'ऑनलाइन शिक्षा स्कूल का विकल्प नहीं है'

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि ऑनलाइन शिक्षा स्कूलों का विकल्प नहीं हो सकती है और यह सिर्फ सीखने-सिखाने की प्रक्रिया को जारी रखने का एक जरिया है. कोविड-19 महामारी के कारण ऑनलाइन या सेमी-ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली की समीक्षा करने के लिए सिसोदिया चिराग दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में शिक्षकों और अभिभावकों से चर्चा कर रहे थे. सिसोदिया ने कहा, ‘‘महामारी के कारण छात्रों का बहुत नुकसान हो रहा है. स्कूल में बच्चे को जैसी शिक्षा और विकास मिलता है, वह ऑनलाइन संभव नहीं है. हमारा लक्ष्य सिर्फ बच्चों को हो रहे नुकसान में कमी लाना है. इसलिए, ऑनलाइन या सेमी-ऑनलाइन शिक्षा आज की जरुरत है.''

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 15% छात्रों का लॉकडाउन से नहीं है कोई पता, ऑनलाइन क्लास से भी गायब

उन्होंने कहा, ‘‘मैं समझता हूं कि बच्चों के विकास के लिए यह माहौल सही नहीं है, लेकिन फिलहाल हमारी मंशा सिर्फ सीखने-सिखाने की प्रक्रिया को जारी रखने की है. अगर दिल्ली के 16 लाख छात्रों के साथ मिलकर अभिभावक और शिक्षक प्रार्थना करें तो मुझे यकीन है कि हम जल्दी ही स्कूल खोलने की स्थिति में होंगे.''
 

VIDEO: दिल्ली: झुग्गी में रहने वाले बच्चों के पास न कंप्यूटर न मोबाइल, कैसे हो ऑनलाइन क्लास?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com