अरविंद केजरीवाल का विपक्ष पर निशाना, कहा- मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना, लेकिन उनका उद्देश्य...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि विपक्षी दलों का उद्देश्य आगामी चुनाव में उन्हें हराना है लेकिन उनका उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना है.

अरविंद केजरीवाल का विपक्ष पर निशाना, कहा- मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना, लेकिन उनका उद्देश्य...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल- (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अरविंद केजरीवाल का विरोधी पार्टी पर निशाना
  • बोले- मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना, लेकिन उनका उद्देश्य है मुझे हरान
  • सोमवार को अरविंद केजरीवाल नामांकन नहीं भर पाए थे
नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि विपक्षी दलों का उद्देश्य आगामी चुनाव में उन्हें हराना है लेकिन उनका उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना है. मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘एक ओर हैं भाजपा, जद(यू), लोजपा, जजपा, कांग्रेस और राजद. दूसरी ओर है स्कूल, अस्पताल, पानी, बिजली, महिलाओं के लिए मुफ्त बस सेवा. मेरा उद्देश्य है भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना. लेकिन उनका उद्देश्य है मुझे हराना.''

Delhi Election 2020: अरविंद केजरीवाल ने किया वादा, सरकार बनने पर इन 10 कामों की गारंटी

भाजपा, जद(यू), लोजपा, कांग्रेस और राजद दिल्ली में आगामी विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार उतार रहे हैं. भाजपा ने जद(यू) और लोजपा से गठबंधन किया है वहीं कांग्रेस और राजद गठबंधन में हैं. दिल्ली में चुनाव आठ फरवरी को होने हैं. बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार को अपना नामांकन दाखिल नहीं कर पाए थे. उनका नामांकन समय से नहीं पहुंचने की वजह से टल गया. नामांकन दाखिल करने के लिए तीन बजे तक चुनाव अधिकारी के दफ्तर पहुंचना होता है. लेकिन अरविंद केजरीवाल अपना रोड शो खत्म नहीं कर पाए जिस कारण अब वो नामांकन मंगलवार को किया.

आम आदमी पार्टी का गारंटी कार्ड, दस नए झूठ की गारंटी : मनोज तिवारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने विधानसभा चुनाव में नामांकन दाखिल करने के लिए निकलने से पहले अपनी मां का आशीर्वाद लिया था. केजरीवाल नई दिल्ली सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. यह सीट केजरीवाल के राजनीतिक करियर के लिए अहम पड़ाव साबित हुई है. जीवन का पहला चुनाव लड़ते हुए केजरीवाल ने साल 2013 में उस समय की तत्कालीन मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित को हरा दिया था. इसके बाद साल 2015 में उन्होंने बीजेपी की नेता नूपुर शर्मा को हराया था. (इनपुट भाषा से भी)

VIDEO: दिल्ली के चुनावी प्रचार में उतरा CM अरविंद केजरीवाल का परिवार



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)