यह ख़बर 02 अक्टूबर, 2013 को प्रकाशित हुई थी

दिल्ली यूनिवर्सिटी में क्या आरक्षित होंगी 90 फीसदी सीटें!

दिल्ली यूनिवर्सिटी में क्या आरक्षित होंगी 90 फीसदी सीटें!

शीला दीक्षित का फाइल फोटो

खास बातें

  • चुनाव करीब आते ही शीला दीक्षित सरकार को युवा वोटरों की चिंता सताने लगी है, शायद इसलिए दिल्ली सरकार ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में 90 फीसदी सीट दिल्ली में रहने वाले लोगों के लिए आरक्षित करने का प्रस्ताव भेजा है।
नई दिल्ली:

चुनाव करीब आते ही शीला दीक्षित सरकार को युवा वोटरों की चिंता सताने लगी है, शायद इसलिए दिल्ली सरकार ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में 90 फीसदी सीट दिल्ली में रहने वाले लोगों के लिए आरक्षित करने का प्रस्ताव भेजा है।

प्रस्ताव के मुताबिक, दिल्ली में उन 12 कॉलेज को जिन्हें दिल्ली सरकार की तरफ से फंडिग होती है, वहां 90 फीसदी सीट रिजर्व करने का प्रस्ताव है, जबकि ऐसे 16 कॉलेज हैं, जिन्हें पांच फीसदी ग्रांट दिल्ली सरकार की तरफ से मिलता है। इन कॉलेजों में भी 50 फीसदी सीट दिल्ली के छात्रों के लिए आरक्षित करने का प्रस्ताव है।

अगर यह प्रस्ताव पास हो जाता है तो दिल्ली विश्वविद्यालय की करीब 61 हजार सीटों में से 36 हजार से अधिक सीट आरक्षित हो जाएंगी। फिलहाल, डीयू में पढ़ने वाले के कुल छात्रों में से सिर्फ 13 हजार दिल्ली के रहने वाले हैं। इस प्रस्ताव में दिल्ली की लड़कियों को पांच फीसदी अंक देने का भी प्रस्ताव है।

इधर, दिल्ली सरकार के इस प्रस्ताव पर राजनीति भी शुरू हो गई है। बीजेपी का कहना है कि पिछले 15 साल में शीला सरकार को इस तरह के कानून की याद नहीं आई और अब चुनाव में यह प्रस्ताव पूरी तरह से वोट बैंक की राजनीति का नमूना है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com