NDTV Khabar

पंजाबी बाग होंडा सिटी कार दुर्घटना मामले में पुलिस ने जांच का फैसला लिया

मृतक रितु की बहन प्रीति ने बताया- मम्मी ने कैब के लिए पैसे भी दिए थे लेकिन कैब मिल नहीं रही थी तो वो रजत के साथ एक्जाम देने चली गई.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाबी बाग होंडा सिटी कार दुर्घटना मामले में पुलिस ने जांच का फैसला लिया
नई दिल्ली: पंजाबी बाग के फ्लाईओवर पर हुए हादसे में चार लोगों की मौत हो गई. मारे गए स्टूडेंट के परिवार के लोग कार के ब्रेक फेल होने की आशंका जता रहे हैं. पुलिस ने भी कार की मैकेनिकल जांच कराने का फैसला किया है. होंडा सिटी कार एक्सीडेंट में मारी गई रितु का परिवार सदमे में है. बीबीए पहले साल की छात्रा रितु को जब कैब नहीं मिली तो उसने रजत से लिफ्ट मांगी. कुछ ही देर बाद परिवार को कार हादसे की खबर मिली. हादसे से कुछ देर पहले रितु ने अपनी सहेली को भी कॉल किया, लेकिन हादसे के बाद रितु का न तो मोबाइल मिला और न पर्स.

मृतक रितु की बहन प्रीति ने बताया- मम्मी ने कैब के लिए पैसे भी दिए थे लेकिन कैब मिल नहीं रही थी तो वो रजत के साथ एक्जाम देने चली गई.

दरअसल, सोमवार को पंजाबी बाग के इसी फ्लोई ओवर की दीवार को तोड़ते हुए कार नीचे गिर गई थी. इस हादसे में सात स्टूडेंट्स में से चार की मौत हो गई थी. लेकिन इस होंडा सिटी कार के हादसे का कारण नहीं पता चल पा रहा है. शुरुआती जांच में पुलिस हादसे की वजह तेज रफ्तार को मान रही है. कुछ लोग टायर फटने को और पीड़ित परिवार ब्रेक फेल होने की आशंका जता रहा है. इसी के चलते पुलिस अब कार की मैकेनिकल जांच भी करवाने जा रही है.

मृतक रितु के पिता मलखान सिंह ने कहा कि हादसे से पहले रितु ने अपनी सहेली को फोन किया, लेकिन वह कुछ सुन नहीं पाई कि वह क्या कह रही है. बस हादसे की बात उसे पता चली. पंजाबी बाग फ्लाईओवर से कार गिरने के बाद बहुत सारे लोग घायलों को बचाने में लगे रहे वहीं कुछ लोगों ने हादसे के शिकार लोगों के पर्स, मोबाइल और सोने की जंजीर को भी चुरा लिया. अब पुलिस इन्हें भी खोज रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement