NDTV Khabar

Weather Updates:दिल्ली एनसीआर में बढ़ा बारिश का इंतजार, उत्तर बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी, जानें अपने राज्य का मौसम

Weather Updates: दिल्ली एनसीआर में बारिश का इंतजार बढ़ता ही जा रहा है. जुलाई के महीने में भी यहां बारिश नहीं हो रही है. दिल्ली एनसीआर में अभी तक सामान्य से काफी कम बारिश हुई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Weather Updates:दिल्ली एनसीआर में बढ़ा बारिश का इंतजार, उत्तर बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी, जानें अपने राज्य का मौसम

Weather Updates: दिल्ली एनसीआर में उमस से लोग परेशान

खास बातें

  1. दिल्ली एनसीआर में बारिश का इंतजार बढ़ा
  2. उत्तर बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी
  3. जानें अपने राज्य के मौसम का हाल
नई दिल्ली:

दिल्ली एनसीआर में बारिश का इंतजार बढ़ता ही जा रहा है. जुलाई के महीने में भी यहां बारिश नहीं हो रही है. दिल्ली एनसीआर में अभी तक सामान्य से काफी कम बारिश हुई है. आसमान में हर दिन बादल छाए रहने के बावजूद भी बारिश नहीं हो रही, जिसके कारण लोगों की परेशानी बढ़ती ही जा रही है. वहीं, पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ सहित कुछ हिस्सों में गुरुवार को बारिश हुई. इससे यहां तापमान में गिरावट दर्ज की गई. मौसम विभाग के अधिकारी ने यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह में भारी बारिश के बाद चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान सामान्य से कुछ डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया और करीब 32 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि मोहाली, जालंधर, रूपनगर, पटियाला, लुधियाना, अंबाला, पंचकूला और यमुनानगर सहित दोनों ही राज्यों में अधिकतम तापमान 32-34 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने हरियाणा और पंजाब में शनिवार तक और अधिक बारिश होने की संभावना जताई है.

Delhi Weather: दिल्लीवासियों के लिए खुशखबरी, मिल सकती है गर्मी से राहत, जानें- अगले 7 दिन कैसा रहेगा मौसम



यूपी में बारिश से लोगों को गर्मी से मिली निजात
उत्तर प्रदेश में मॉनसून की मेहरबानी के कारण लोगों को उमस भरी गर्मी से निजात मिल गयी है. राजधानी लखनऊ सहित उसके आस-पास के इलाकों में बारिश का सिलसिला लगातार चल रहा है. गुरूवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अनुसार, बारिश का सिलसिला फिलहाल जारी रहेगा. अगले चार-पांच दिनों तक कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश की संभावना है. हालांकि, शुक्रवार से राजधानी लखनऊ में बारिश का दौर कुछ थम सकता है, लेकिन प्रदेश में बारिश होती रहेगी. मौसम विभाग के निदेशक जे.पी. गुप्ता ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिसके चलते तेज बारिश का सिलसिला जारी है. पूर्वी व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की भी संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक, गुरुवार को आगरा का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस, इलाहाबाद का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री, बांदा का न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.


बिहार में बारिश के आसार
बिहार की राजधानी पटना तथा आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार को भी बादल छाए हुए हैं तथा मौसम विभाग ने बारिश के आसार जताए हैं. बीते दो दिनों में राज्य के अधिकांश हिस्सों में रुक-रुककर हो रही बारिश के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. गुरुवार को पटना का न्यूनतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बताया है कि राज्य के कई हिस्सों में अगले एक-दो दिनों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. इससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की जाएगी. गुरुवार को भागलपुर का न्यूनतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस, गया का 24.7 डिग्री सेल्सियस तथा पूर्णिया का 25. 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. बीते 24 घंटे के दौरान राज्य के लगभग सभी क्षेत्रों में बारिश हुई है. इस दौरान पटना में 35.60 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. पटना का गुरुवार को अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने की संभावना है. 

मध्य प्रदेश में उमस ने किया परेशान
मध्य प्रदेश की राजधानी सहित राज्य के अन्य हिस्सों में गुरुवार की सुबह से आसमान में आंशिक हिस्से बादलों की मौजूदगी की वजह से उमस बढ़ गई है. वहीं मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में कई स्थानों पर बौछारें पड़ने की संभावना जताई है. राज्य में गुरुवार की सुबह से आंशिक बादलों की मौजूदगी है, बादलों और सूरज के बीच लुकाछिपी का दौर जारी है. जिससे उमस बढ़ गई है,जो परेशान करने वाली है. बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के कुछ ही हिस्से में बौछारें पड़ीं, वहीं अधिकांश हिस्सों में धूप निकली, परिणामस्वरुप राज्य के अधिकांश हिस्सों के तापमान में उछाल आया है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आगामी 24 घंटों में राज्य में जोरदार बारिश की संभावना कम है, बौछारें जरुर पड़ सकती हैं. राज्य के तापमान में बदलाव का दौर जारी है. गुरुवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 23.5 डिग्री, ग्वालियर का 27.4 डिग्री और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मध्य प्रदेश में बारिश के बाद पर्यटक स्थल हुआ गुलजार, वाटरफॉल के नजारे देखने के लिए उमड़ रही भीड़


उत्तर बंगाल में रविवार तक भारी बारिश की चेतावनी 
मौसम विभाग ने रविवार सुबह तक उत्तर बंगाल के उपहिमालयी जिलों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है. आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया कि दार्जिलिंग जिले में एक या दो स्थानों पर मंगलवार से हो रही लगातार बारिश के चलते भूस्खलन होने से पर्वतीय जिले में यातायात प्रभावित हुआ.    मौसम अधिकारी ने उत्तरी बंगाल के दार्जिलिंग, कलिमपोंग, जलपाईगुड़ी, अलीपुरद्वार और कूचबिहार में रविवार सुबह तक भारी बारिश होने की चेतावनी दी है. वन्य दुआर क्षेत्र में पड़ने वाले निचले इलाकों में कई चाय के बागान हैं लेकिन लगातार बारिश के कारण वहां बाढ़ आ गयी है. भारत में पूर्वी हिमालय की तलहटी को दुआर क्षेत्र कहते हैं. यह क्षेत्र भारत से भूटान के लिए प्रवेश द्वार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिला प्रशासन ने निचले इलाकों धुपगुड़ी, मोयनागुड़ी और अलीपुरद्वार शहरों से लोगों को निकालकर उन्हें सुरक्षित स्थानों, बाढ़ के मद्देनजर बनाये गये राहत शिविरों, स्कूल भवनों में पहुंचाना शुरू कर दिया है. उत्तर बंगाल के उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर और मालदा में भी अगले तीन दिन में भारी बारिश होने का अनुमान है.    मौसम विभाग ने बुधवार सुबह आठ बजे से 24 घंटे में कलिमपोंग में 44 मिमी बारिश, सिलीगुड़ी में 32 मिमी, दार्जिलिंग में 28.4 मिमी, कूचबिहार में 28.8 मिमी और जलपाईगुड़ी में 11.5 मिमी बारिश दर्ज की.


भारी बारिश से बेहाल हुआ मेघालय
पिछले पांच दिनों से जारी मूसलाधार बारिश से मेघालय में कई स्थानों पर अचानक बाढ़ आ गई है और भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं. इसके कारण कई जगहों पर बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा है और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री किरमेन शायला ने पीटीआई-भाषा को बताया कि कई नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. जिला प्रशासनों को तत्काल कार्रवाई के लिए आपातकालीन अभियान संचालन केंद्र स्थापित करने के लिए कहा गया है. शायला ने बताया कि क्षेत्रीय मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों में भारी बारिश की चेतावनी भी जारी की है. ईस्ट खासी हिल्स की जिला उपायुक्त मत्सिउदोर वार नोंगबरी ने कहा कि जल जमाव के कारण कई निचले इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है. उन्होंने कहा कि जिले के कई गांव शिलॉन्ग से कट गए हैं, क्योंकि पिछले हफ्ते आयी बाढ़ में सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई थीं. उन्होंने कहा कि मलबा हटाने और सामान्य स्थिति बहाल करने के प्रयास जारी हैं. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सोहरा (चेरापूंजी) में पिछले चार दिनों में लगभग 1,000 मिलीमीटर बारिश हुई है.

टिप्पणियां

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: बारिश के पानी को कुछ यूं संजोता है राजस्थान का यह गांव​



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement