NDTV Khabar

Weather Updates: दिल्ली-एनसीआर में आज बादल छाए रहने के साथ हल्की बारिश के आसार, जानें अपने राज्य का हाल

Delhi Weather Today: दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार को आसमान में बादल छाए रहने के साथ-साथ हल्की बारिश होने का अनुमान है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Weather Updates: दिल्ली-एनसीआर में आज बादल छाए रहने के साथ हल्की बारिश के आसार, जानें अपने राज्य का हाल

Weather Updates:दिल्ली-एनसीआर में बारिश की संभावना

खास बातें

  1. दिल्ली एनसीआर में आज बारिश की संभावना
  2. आसमान में बादल छाए रहने के आसार
  3. लोगों को उमस से मिल सकती है राहत
नई दिल्ली:

Delhi Weather Forecast: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली-एनसीआर (Delhi Weather) में गुरुवार को आसमान में बादल छाए रहने के साथ-साथ हल्की बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है. दिल्ली एनसीआर का अधिकतम तापमान लगभग 34 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है. गुरुवार सुबह दिल्ली-एनसीआर का तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आईएमडी ने बताया कि बुधवार को दिल्ली-एनसीआर (Delhi Weather) के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश दर्ज की गई. बुधवार को शहर में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक 35.1 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.आर्द्रता का स्तर 63 और 88 प्रतिशत के बीच दर्ज किया गया था. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक के जे रमेश ने इससे पहले बताया था कि अगले दो सप्ताह में भी अच्छी बारिश होने की संभावना है और बारिश के उसके आकलन में नौ फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है.    

राज्यसभा ने मोटर वाहन संशोधन विधेयक को दी मंजूरी, सड़क सुरक्षा के लिए किये गए हैं कठोर प्रावधान


आईएमडी के नये महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया था कि जुलाई में सामान्य अनुमान के 285.3 मिलीमीटर के मुकाबले 298.3 मिलीमीटर बारिश हुई.    महापात्र ने बताया कि जुलाई में सामान्य से पांच फीसदी अधिक लॉन्ग पीरियड एवरेज (एलपीए) की 105 प्रतिशत बारिश हुई. आईएमडी ने 95 प्रतिशत बारिश होने का अनुमान जताया था. हालांकि, झारखंड, कर्नाटक के दक्षिण हिस्सों, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश के रायससीमा क्षेत्र, अंडमान और निकोबार द्वीप, हिमाचल प्रदेश, गांगेय पश्चिम बंगाल में जुलाई में सामान्य से कम बारिश हुई. बिहार, असम, तटीय महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बाढ़ आ गई. जून में एलपीए की 87 फीसदी बारिश दर्ज की गई थी.    इस साल मॉनसून केरल में एक सप्ताह की देरी से आठ जून को पहुंचा था. उसकी शुरुआत धीमी रही और 19 जुलाई को चार दिन की देरी से वह पूरे देश में पहुंच गया था. भारत में बारिश के आधिकारिक मौसम जून से सितंबर तक होते हैं. रमेश ने बताया था कि आगामी दो महीने में अच्छी बारिश होने की संभावना है.

राष्ट्रपति की मंजूरी के साथ ही तीन तलाक बिल बना कानून, 19 सितंबर 2018 से लागू माना जाएगा

यूपी में जल्द ही फिर से होगी 'राहत की बारिश' 
उत्तर प्रदेश में पिछले कई दिनों से खामोश मॉनसून के जल्द ही सक्रिय होने का अनुमान है और एक-दो दिन में सूबे के अनेक इलाकों में बारिश होनी की सम्भावना है. आंचलिक मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक, आगामी दो अगस्त से प्रदेश में मॉनसून फिर जोर पकड़ेगा और अगले एक-दो दिन राज्य के ज्यादातर इलाकों में बारिश होने की प्रबल सम्भावना है. पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के लगभग सभी इलाकों में मौसम आमतौर पर सूखा रहा. इस अवधि में झांसी और ललितपुर में एक-एक सेंटीमीटर वर्षा हुई. पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के आगरा मण्डल में दिन के तापमान में खासी बढ़ोत्तरी हुई। बाकी स्थानों पर यह सामान्य रहा. 

बिहार में बाढ से 130 लोगों की मौत, असम में घट रहा जलस्तर 
बिहार के13 जिलों में आयी बाढ से अब तक 130 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 88.46 लाख आबादी प्रभावित हुई है. असम में सभी प्रमुख नदियों में जल स्तर अब घटने लगा है. पिछले 24 घंटे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है. राज्य में बाढ़ की चपेट में आने से 86 लोगों की मौत हो चुकी है. आपदा प्रबंधन विभाग से मंगलवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार के 13 जिले-शिवहर, सीतामढी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार में अबतक 130 लोगों की मौत हुई है जबकि 88.46 लाख आबादी प्रभावित हो चुकी है. बिहार में बाढ से मरने वाले 130 लोगों में सीतामढी के 37, मधुबनी के 30, दरभंगा के 14, अररिया के 12, शिवहर के 10, पूर्णिया के 9, किशनगंज के 7, मुजफ्फरपुर एवं सुपौल के 4-4, पूर्वी चंपारण के 2 और सहरसा के एक व्यक्ति शामिल हैं. असम में सभी प्रमुख नदियों में जल स्तर अब घटने लगा है. पिछले 24 घंटे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है. राज्य में बाढ़ की चपेट में आने से 86 लोगों की मौत हो चुकी है. 

अमरनाथ यात्रा पर हमले की फिराक में आतंकी, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर

राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश, छह जिलों में भारी बारिश की चेतावनी 
राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के छह जिलों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग के आंकडों के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान झालावाड़ के पचपदरा-अकलेरा में 4-4 सेंटीमीटर, कोटा के रामगंजमंडी में 3 सेंटीमीटर, झालावाड़ के असनावर-डग में 3-3 सेंटीमीटर, चित्तौड़गढ़ में गंगरार में 2 सेंटीमीटर, भीलवाड़ा के रायपुर में 2 सेंटीमीटर, चित्तौड़गढ़ के भैंसरोडगढ़ में 2 सेंटीमीटर, झालावाड़ के मनोहर थाना-बकानी में 2-2 सेंटीमीटर, राजसमंद के नाथद्वारा में 2 सेंटीमीटर, भीलवाड़ा में 2 सेंटीमीटर, सिरोही के पिंडवाड़ा में 2 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई. वहीं बुधवार सुबह से शाम तक कोटा में 8.4 मिलीमीटर, श्रीगंगानगर में 2.4 मिलीमीटर और जोधपुर बूंदाबांदी दर्ज की गई.  मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के भीलवाड़ा, चितौड़गढ़, झालावाड़, राजसमंद, सिरोही और उदयपुर में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है. 

भारी बारिश के चलते वड़ोदरा हवाईअड्डा बंद 
गुजरात के वड़ोदरा शहर में बुधवार को महज 12 घंटे में 442 मिमी बारिश हुई, जिसके चलते यहां हवाईअड्डा को बंद करना पड़ा और कुछ ट्रेने भी रद्द करनी पड़ी. हवाईअड्डा अधिकारियों ने बताया कि शहर के बाहरी इलाके में स्थित वडोदरा हवाई अड्डा को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया और दो घरेलू उड़ानें रद्द कर दी गयी. वहीं, पश्चिमी रेलवे ने कहा कि जल जमाव के कारण शहर से गुजरने वाली कुछ ट्रेने रद्द कर दी गई है या उनके मार्ग में बदलाव किये गए हैं. गुजरात सरकार की एक विज्ञप्ति में बताया गया कि बुधवार को राज्य में सबसे अधिक, सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक वड़ोदरा में 442 मिमी बारिश दर्ज की गयी.

टिप्पणियां

VIDEO: जम्मू कश्मीर: भूस्खलन के कारण नेशनल हाइवे नंबर 44 बंद​
 

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement