ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के लिए अलॉट जमीन में निवेश का झांसा देकर 12 करोड़ रु. ठगे, एक गिरफ्तार

आर्थिक अपराध शाखा के जॉइंट सीपी ओपी मिश्रा के मुताबिक, रेप्युटेड रियलटेक प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर शरन पाल सिंह ने इस ठगी के बारे में शिकायत दी थी.

ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के लिए अलॉट जमीन में निवेश का झांसा देकर 12 करोड़ रु. ठगे, एक गिरफ्तार

पुलिस ने 12 करोड़ रुपये की ठगी मामले में एक व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया है

खास बातें

  • पुलिस ने राहुल गौर नाम के शख्‍स को अरेस्‍ट किया
  • एक कंपनी के डायरेक्‍टर शरण पाल सिंह ने की थी शिकायत
  • उन्‍होंने किया था 8 करोड़ रुपये का न‍िवेश, शेयर भी ट्रांसफर किए थे
नई दिल्‍ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi police)की आर्थिक अपराध शाखा ने 12 करोड़ की ठगी के मामले (Fraud case) में राहुल गौर नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है. राहुल गुरुग्राम का रहने वाला है. आर्थिक अपराध शाखा के जॉइंट सीपी ओपी मिश्रा के मुताबिक, रेप्युटेड रियलटेक प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर शरन पाल सिंह ने शिकायत दी थी कि रियल स्टेट के क्षेत्र में काम करने वाली दो कंपनियों के निदेशकों राहुल गौर और नवनीत भड़ला ने मिलकर उन्हें बताया कि उनकी कंपनियों को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के लिए जमीन अलॉट की है,अगर वो इसमें निवेश करें तो काफी फायदा होगा.

Newsbeep

बैंक को लाखों रुपये का चूना लगाने वाला गिरफ्तार, फर्जी कंपनी बनाकर लिया लोन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इन दोनों के झांसे में आकर शरन पाल सिंह ने 8 करोड़ रुपये का निवेश कर दिया और अपनी कंपनी के 37 प्रतिशत शेयर भी उन कंपनियों में ट्रांसफर कर दिए, लेकिन बाद में शरण पाल को पता चला कि आरोपियों ने उनकी कंपनी के शेयर में हेराफेरी कर अपनी कंपनी के शेयर केपिटल को बड़ा दिया है और शेयर एक दूसरी कंपनी में विक्रम कथूरिया और और संदीप मदान नाम के लोगों को ट्रांसफर कर दिए हैं. इस तरह शरण पाल सिंह का कुल 12 करोड़ रुपया ठगा गया. जांच में पता चला कि इन लोगों ने ऐसे कई और निवेशकों के साथ इसी तरह ठगी की है.