NDTV Khabar

JNU हिंसा में शामिल हमलावरों को पहचानने के लिए खंगाल रहे हैं CCTV फुटेज और वायरल स्क्रीनशॉट्स- दिल्ली पुलिस

जेएनयू परिसर में रविवार रात उस वक्त हिंसा भड़क गयी थी, जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, जिसके बाद प्रशासन ने पुलिस को बुलाया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU हिंसा में शामिल हमलावरों को पहचानने के लिए खंगाल रहे हैं CCTV फुटेज और वायरल स्क्रीनशॉट्स- दिल्ली पुलिस

हमले के कई वीडियो और तस्वीरें सामने आई हैं.

नई दिल्ली:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है. अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि दंगा करने और सम्पति को नुकसान पहुंचाने के संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने मामले का संज्ञान लेते हुए कहा, ‘ हमने अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है.' उन्होंने कहा कि मामले की सीसीटीवी फुटेज और सोशल मीडिया मंच पर मौजूद सामग्री की भी जांच की जाएगी. आर्य ने कहा कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए परिसर के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि हिंसा में शामिल हमलावरों को पहचानने के लिए सोशल मीडिया पर वायरल स्क्रीनशॉट्स और सीसीटीवी फुटेज खंगाली जाएंगी. 

बता दें, जेएनयू परिसर में रविवार रात उस वक्त हिंसा भड़क गयी थी, जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, जिसके बाद प्रशासन ने पुलिस को बुलाया. इस हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित कम से कम 28 लोग घायल हुए हैं.


पुलिस देखती रही, स्ट्रीटलाइट बंद कर दी गईं : JNU हिंसा को लेकर उठे कई सवाल

दिल्ली पुलिस ने बताया कि मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है. इस मामले में अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है. साथ ही पुलिस ने बताया कि हमें दोनों तरफ से शिकायतें मिली हैं और हम इसकी जांच क रहे हैं. हमने एफआईआर दर्ज कर ली है और कुछ लोगों की पहचान भी की गई है. 

JNU हिंसा: कांग्रेस का निशाना- मोदी जी और शाह जी ने 90 साल बाद दिला दी नाजी शासन की याद

टिप्पणियां

वहीं विश्वविद्यालय के शीर्ष अधिकारियों ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की और उन्हें परिसर की मौजूदा स्थिति के बारे में बताया. जेएनयू के रजिस्टार और प्रॉक्टर वीसी ने विश्वविद्यालय की मौजूदा स्थिति की जानकारी देने के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल से मुलाकात की. अन्य एक अधिकारी ने बताया कि एम्स के ट्रामा सेंटर और सफदरजंग में भर्ती 35 छात्रों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

VIDEO: JNU में हुए हमले के बाद मुंबई समेत देश के कई हिस्सों में शुरू हुए विरोध प्रदर्शन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... अमित शाह ने BJP कार्यकर्ता के घर खाया खाना तो बॉलीवुड एक्ट्रेस ने साधा निशाना, बोलीं- एक डायलॉग याद आया...

Advertisement