विदेश से आए जमातियों पर शिकंजा कसेगी दिल्ली पुलिस,  वीज़ा नियमों के उल्लंघन का आरोप : सूत्र

टूरिस्ट वीज़ा पर आए लोगों पर भारत में धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है. 67 देशों से विदेशी जमाती दिल्ली के निज़ामुद्दीन स्थित मरकज़ आये थे.

विदेश से आए जमातियों पर शिकंजा कसेगी दिल्ली पुलिस,  वीज़ा नियमों के उल्लंघन का आरोप : सूत्र

विदेशी जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दायर करेगी दिल्ली पुलिस (फाइल फोटो)

खास बातें

  • विदेश से आए जमातियों पर शिकंजा कसने की तैयारी
  • दिल्ली पुलिस बहुत जल्दी ही इनके खिलाफ चार्जशीट दायर करेगी : सूत्र
  • टूरिस्ट वीज़ा पर भारत में धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट के बीच दिल्ली पुलिस (Delhi Police) निज़ामुद्दीन मरकज़ में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए विदेशी जमातियों पर शिकंजा कसेगी. सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस 916 विदेशी जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दायर करेगी. दिल्ली पुलिस बहुत जल्दी ही चार्जशीट दायर करेगी. विदेश से आए जमातियों पर वीज़ा नियमों के उल्लंघन का आरोप है. सभी के पासपोर्ट और दूसरे दस्तावेज जब्त कर लिए गए हैं. 

टूरिस्ट वीज़ा पर आए लोगों पर भारत में धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है. 67 देशों से विदेशी जमाती दिल्ली के निज़ामुद्दीन स्थित मरकज़ आये थे. दिल्ली पुलिस ने सभी विदेशी ज़मतियों से पूछताछ पूरी की. कई लोगों ने कहा कि वो मरकज़ के मौलाना मोहम्मद साद (Mohammad Saad) के कहने पर 20 मार्च के बाद रुके थे. सभी विदेशी ज़मतियों की क्वारंटाइन अवधि खत्म हो गई है. सभी को अलग-अलग जगह रखा गया है. 

सरकार ने अप्रैल महीने की शुरुआत में वीजा शर्तों का उल्लंघन कर तबलीगी जमात की गतिविधियों में शामिल होने के कारण 960 विदेशियों के नाम ब्लैक लिस्ट कर दिए थे और उनके वीजा को भी रद्द कर दिया. गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस और अन्य राज्यों के पुलिस प्रमुखों को विदेशी कानून और आपदा प्रबंधन कानून के तहत कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के प्रमुख मौलाना साद (Maulana Saad) के खिलाफ शिकंजा कसते हुए उसके बेटे सईद से पूछताछ की थी. कहा जा रहा था कि मौलाना साद के सारे कामकाज उसका यह बेटा ही देखता है. इसके अलावा, प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी मौलाना साद मामले में जांच कर रहा है. 

वीडियो: देश में 30 फीसदी कोरोना मामले मरकज से जुड़े