Delhi violence: 85 वर्षीय महिला अकबरी को जिंदा जलाने के आरोप में दो भाई गिरफ्तार

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में पिछले महीने हुई हिंसा के दौरान 85 वर्षीय एक महिला के मकान को आग के हवाले कर कथित तौर पर उसकी हत्या करने को लेकर दो भाइयों को गिरफ्तार किया गया है.

Delhi violence:  85 वर्षीय महिला अकबरी को जिंदा जलाने के आरोप में दो भाई गिरफ्तार

दिल्ली हिंसा के दौरान महिला के घर में आग लगा दी गयी थी

खास बातें

  • उत्तर-पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में हुई थी घटना
  • वीडियो क्लिपिंग के आधार पर हुई गिरफ्तारी
  • आरोपियों का नाम अरूण और वरूण है
नई दिल्ली:

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में पिछले महीने हुई हिंसा के दौरान 85 वर्षीय एक महिला के मकान को आग के हवाले कर कथित तौर पर उसकी हत्या करने को लेकर दो भाइयों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि दोनों आरोपियों, अरूण  और वरूण को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने 11 मार्च को गिरफ्तार किया. उनकी पहचान वीडियो क्लिपिंग और स्थानीय प्रत्यक्षदर्शियों के आधार पर की गई. पुलिस ने बताया कि 25 फरवरी को भीड़ द्वारा महिला के मकान को आग के हवाले कर दिये जाने पर वह उसके अंदर फंस गई.

राज्यसभा में दिल्ली हिंसा पर बोले गृह मंत्री अमित शाह, 'जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा'

दमकल विभाग द्वारा आग पर काबू पाये जाने के बाद करीब 10 घंटे बाद उसका शव बरामद किया जा सका. उसकी मौत दम घुटने से हुई. वहीं, गोकुलपुरी इलाके में सांप्रदायिक हिंसा के दौरान चार लोगों की कथित तौर पर हत्या करने और उनका शव नाले में फेंकने को लेकर चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि आरोपियों की पहचान पंकज शर्मा, लोकेश, सुमित और अंकित के रूप में की गई है. उन्होंने बताया कि चारों शव भागीरथी विहार और जोहरीपुर नालों से 27 फरवरी को पुलिस ने बरामद किये थे.

दिल्ली में हुए दंगों के मामलों में 13 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुलिस के मुताबिक 23 फरवरी को इलाके में स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी. ऐसे में आमिर अली और हाशिम नाम के दो भाई सुरक्षा के लिए अपने मामा के घर गये थे. दो दिनों बाद उनके पिता बाबू खान ने स्थिति संभवत: सामान्य होने के बाद उनसे घर लौटने को कहा. वे गोकुलपुरी इलाके पहुंचे भी लेकिन वे घर नहीं पहुंच पाये. 28 फरवरी को जब परिजनों ने पुलिस से संपर्क किया तो उन्हें उनके मारे जाने की सूचना मिली. दोनों भाइयों का शव भागीरथी विहार नाले से मिला. वहीं, एक अन्य मामले में 25 फरवरी को दंगाइयों ने मुशर्रफ की हत्या कर दी. उसका शव भागीरथी विहार नाले से बरामद हुआ. पुलिस के मुताबिक एक अन्य मामले में कार मैकेनिक अकील अहमद गाजियाबाद के लोनी स्थित घर से न्यू मुस्तफाबाद गया था लेकिन वह वहां नहीं पहुंच सका.

VIDEO: दिल्ली हिंसा में 85 साल की अकबरी की मौत