जबरन हो रही थी नाबालिग लड़की की शादी, दिल्ली महिला आयोग ने छुड़ाया

दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) को एक अज्ञात कॉल के ज़रिए जानकारी मिली कि लड़की का विवाह समारोह इस वक़्त चल रहा है.

जबरन हो रही थी नाबालिग लड़की की शादी, दिल्ली महिला आयोग ने छुड़ाया

लड़की को शेल्टर होम में रखा गया है.

नई दिल्ली:

देश में बाल विवाह एक अपराध है और समय समय पर सरकार और कोर्ट द्वारा बाल विवाह के खिलाफ मुहिम चलाते रहते हैं. सबसे हैरान करने वाली बात है कि दिल्ली (Delhi) जैसे शहर में भी अभी तक बच्चियों को बोझ समझकर नाबालिग उम्र में उनका विवाह करवाया जा रहा है. ऐसी ही एक मामला दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके से सामने आया, जिसमें एक साढ़े 16 साल की लड़की का विवाह जबरन करवाया जा रहा था.

दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) को एक अज्ञात कॉल के ज़रिए जानकारी मिली कि लड़की का विवाह समारोह इस वक़्त चल रहा है. शिकायतकर्ता से जानकारी मिलते ही आयोग ने सक्रियता दिखाते हुए तुरंत एक टीम को मौके पर भेजा. टीम ने बताई गई जगह पर पहुंचकर पाया कि लड़की के विवाह का कार्यक्रम चल रहा था और कार्यक्रम में काफी लोग शामिल थे. आयोग की टीम ने तुरंत पुलिस को सूचित किया और पुलिस के साथ विवाह स्थल पर पहुंची. जब लड़की के परिवार वालों से लड़की के प्रमाण पत्र मांगे गए तो वो काग़ज़ दिखाने में काफी समय तक हिचकिचाते रहे. उसके बाद जब टीम ने लड़की के काग़ज़ देखे तो टीम ने पाया कि लड़की नाबालिग है और उसका विवाह गैरकानूनी है.

13 साल की इस बच्‍ची ने अपने घर में नहीं होने दिया बाल विवाह, अब यूपी सरकार करेगी सम्‍मानित

टीम द्वारा लड़की और उसके परिवार वालों को कल्याणपुरी पुलिस स्टेशन ले जाया गया और वहां सभी के बयान दर्ज किए गए. बयान के बाद लड़की का मेडिकल कराया गया और घटना की जानकारी बाल कल्याण समिति को दी गई. आयोग की कार्यवाही के बाद लड़की को शेल्टर होम में छोड़ा गया और अब लड़की को बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया जाएगा, जिसके बाद समिति के आदेशों के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

बाल विवाह और कम उम्र में लड़कियों के मां बनने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने जताई चिंता

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, "इस मामले की जानकारी हमें हमारी 24*7 हेल्पलाइन 181 से मिली. शिकायतकर्ता ने बताया कि लड़की को बचाने के लिए बहुत कम समय है क्योंकि उसका जबरन विवाह करवाया जा रहा है. हमारी टीम ज़रा भी देर न करते हुए तुरंत मौके पर पहुंची और लड़की का विवाह रुकवाया. बड़ा दुख होता है जब छोटी बच्चियों को इस प्रकार शादी के बंधन में बांध दिया जाता है. दिल्ली महिला आयोग सतर्क है और दिन रात दिल्ली में महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा की लड़ाई लड़ रहा है."

Newsbeep

VIDEO: दिल्ली : ज़ंजीरों में जकड़ी महिला को दिल्ली महिला आयोग ने मुक्त कराया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com