NDTV Khabar

राष्ट्रीय महत्व के मामलों और J&K में अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग

RSS के पूर्व विचारक के एन गोविंदाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है और पांच जजों की संविधान पीठ में अनुच्छेद 370 को हटाने के खिलाफ दाखिल याचिकाओं की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रीय महत्व के मामलों और J&K में अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग

एन गोविंदाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की

खास बातें

  1. RSS के पूर्व विचारक के एन गोविंदाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल
  2. 370 को हटाने के खिलाफ दाखिल याचिकाओं की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग
  3. इस मामले को सूचीबद्ध होने पर सुनवाई करेंगे- सुप्रीम कोर्ट
नई दिल्ली:

RSS के पूर्व विचारक के एन गोविंदाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दाखिल की है और पांच जजों की संविधान पीठ में अनुच्छेद 370 (Article 370) को हटाने के खिलाफ दाखिल याचिकाओं की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग की है. याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में दिए अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट में कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग की इजाजत दी थी. ये मामला राष्ट्रीय महत्व का है जिसे भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया कवर करता है. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की इजाजत दे. साथ ही कहा गया है कि वैकल्पिक तौर पर वीडियो रिकॉर्डिंग, वॉयस रिकॉर्डिंग और कोर्ट में आधिकारिक तौर पर ट्रांस्रिकप्ट तैयार करने के लिए विशेष तैनाती भी की जा सकती है. 

टिप्पणियां

केरल के सबरीमला मंदिर जुड़ी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट अगले हफ्ते करेगा सुनवाई


वहीं सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई पर सहमति जताई है लेकिन जल्द सुनवाई से इंकार करते हुए कहा है कि इस मामले को सूचीबद्ध होने पर सुनवाई करेंगे. दरअसल गोविंदाचार्य ने अयोध्या विवाद की सुनवाई की भी लाइव स्ट्रीमिंग की मांग की थी. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने रजिस्ट्री को नोटिस जारी कर पूछा था कि सुप्रीम कोर्ट में कितने समय में लाइव स्ट्रीमिंग की व्यवस्था हो सकती है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... मंत्री छगन भुजबल ने कहा- 'शिव भोजन थाली' के नहीं होगी आधार कार्ड की जरूरत

Advertisement