सरकार से कर्मचारियों के महंगाई भत्ते पर रोक लगाने का फैसला वापस लेने की मांग

आल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन के जनरल सेक्रेटरी शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि डीए को फ्रीज करने से औसतन एक रेल कर्मचारी की करीब डेढ़ महीने की सैलरी घट जाएगी

सरकार से कर्मचारियों के महंगाई भत्ते पर रोक लगाने का फैसला वापस लेने की मांग

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

भारतीय रेल के सबसे बड़े कर्मचारी फेडरेशन- आल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन के जनरल सेक्रेटरी शिव गोपाल मिश्रा ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा है कि सरकार को महंगाई भत्ते पर रोक लगाने के फैसले पर पुनर्विचार कर उसे फिर से बहाल करना चाहिए.

Newsbeep

शिवा गोपाल मिश्रा ने एक वीडियो स्टेटमेंट में कहा कि "डीए को फ्रीज करने का फैसला गलत है. इससे औसतन एक रेल कर्मचारी की करीब डेढ़ महीने की सैलरी घट जाएगी. पेंशन धारियों को भी नुकसान होगा." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि ''मैंने आज सेक्रेटरी, पर्सनेल (कार्मिक सचिव) सी  चंद्रमौली जी से बात कर उनसे फैसले पर पुनर्विचार करने की गुज़ारिश की है. मैं कैबिनेट सचिव को भी चिट्ठी लिखने वाला हूं. हम चाहते हैं कि भारत सरकार डीए फ्रीज के फैसले पर पुनर्विचार करे और पुरानी व्यवस्था फिर से बहाल करे."