NDTV Khabar

अलग गोरखालैंड की मांग : आंदोलनकारियों ने पुलिस का वाहन और सामुदायिक केंद्र फूंका

पृथक गोरखालैंड राज्य की मांग को लेकर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा का अनिश्चितकालीन बंद 35वें दिन भी जारी रहा

378 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अलग गोरखालैंड की मांग : आंदोलनकारियों ने पुलिस का वाहन और सामुदायिक केंद्र फूंका

दार्जिलिंग में पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर बुधवार को एक पुलिस वाहन और एक भवन जला दिया गया.

खास बातें

  1. पहाड़ी इलाके में हिंसा व तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं
  2. सौ साल पुराने बंगाली सामुदायिक केंद्र में आग लगा दी
  3. जीजेएम ने पहाड़ी इलाके के विभिन्न हिस्सों में रैलियां निकालीं
दार्जिलिंग: पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग क्षेत्र में हिंसा का सिलसिला थम नहीं रहा है. पृथक गोरखालैंड राज्य की मांग को लेकर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा द्वारा आहूत अनिश्चितकालीन बंद बुधवार को 35वें दिन भी जारी रहा. इस दौरान एक बार फिर उत्तरी पश्चिम बंगाल के पहाड़ी इलाके में हिंसा व तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं.

अलग गोरखालैंड राज्य के समर्थन में एक रैली के बाद दार्जिलिंग के जज बाजार इलाके में बुधवार दोपहर एक पुलिस वाहन में तोड़फोड़ की गई और उसे आग के हवाले कर दिया गया.

पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार चतुर्वेदी ने कहा, "जज बाजार इलाके के निकट बदमाशों ने पुलिस के एक वाहन को फूंक दिया. पुलिस तथा रैली करने वाले लोगों के बीच कोई कहासुनी या झड़प नहीं हुई थी. हम अपराधियों की तलाश कर रहे हैं." उन्होंने कहा, "शहर में सुबह से लेकर अब तक तोड़फोड़ की और कोई बड़ी वारदात सामने नहीं आई है."

कुरसियॉन्ग इलाके में देर मंगलवार को राज राजेश्वरी हॉल नामक सौ साल पुराने बंगाली सामुदायिक केंद्र को आग के हवाले कर दिया गया.

वीडियो- टॉय ट्रेन स्टेशन जलाया


दार्जिलिंग में हिंसा, आगजनी तथा सरकारी संपत्तियों पर लगातार हमलों की निंदा करते हुए राज्य के पर्यटन मंत्री गौतम देब ने दावा किया कि तोड़फोड़ यह बताने के लिए की गई है कि जीजेएम क्षेत्र में शांति की किसी प्रक्रिया के खिलाफ है.

इस बीच, अलग राज्य की मांग को लेकर जीजेएम ने पहाड़ी इलाके के विभिन्न हिस्सों में रैलियां निकालीं. दार्जिलिंग इसका केंद्र बिंदु रहा.
(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement