तीन दिन में नोटबंदी की समस्‍या सुलझाएं, ममता और केजरीवाल की संयुक्‍त चेतावनी

तीन दिन में नोटबंदी की समस्‍या सुलझाएं, ममता और केजरीवाल की संयुक्‍त चेतावनी

सीएम अरविंद केजरीवाल...

नई दिल्ली:

नोटबंदी के खिलाफ दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने दिल्ली की आजादपुर मंडी बाजार में गुरुवार को एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी सरकार के फैसले की जमकर आलोचना की.

ममता बनर्जी ने कहा कि नोटबंदी ने देश को पीछे धकेल दिया है. उन्होंने कहा, 'हम काले धन के खिलाफ हैं, लेकिन यह फैसला उचित नहीं है. क्या जनता चोर है. हम डरते नहीं लड़ते हैं. हम लोग देश को बेचने नहीं देंगे.'

इसके साथ ही ममता ने पीएम मोदी को नोटबंदी का फैसला तीन दिन के अंदर वापस लेने का अल्टीमेटम दिया. उन्होंने कहा, 'आज के हालात इमरजेंसी जैसे हैं. सरकार नोटबंदी के फैसले को वापस ले, नहीं तो आंदोलन करेंगे.'

वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आम लोगों को बहुत परेशानी आ रही है. लोग नोट लेकर घूम रहे हैं, लेकिन सामान नहीं मिल रहा. उन्होंने कहा, 'भ्रष्टाचार के खिलाफ हमने जान की बाजी लगाई है. हमने कांग्रेस के भ्रष्टाचार के खिलाफ दो बार अनशन किया है. हमने बड़े उद्योगपतियों की पोल खोली है.'

केजरीवाल ने कहा, 'अगर नोटबंदी से कालेधन पर रोक लग रही होती तो हम सबसे पहले मोदी सरकार का साथ देते. स्वच्छ भारत अभियान और योग दिवस पर उनका साथ दिया था. 2000 का नोट लाकर कैसे भ्रष्टाचार कैसे खत्म होगा. नए नोट के साथ भ्रष्टाचार भी शुरू हो चुका है. अब कम जगह पर ज्यादा धन जमा करेंगे भ्रष्टाचारी.'

केजरीवाल-ममता की रैली में लगे मोदी-मोदी के नारे
उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी की तरफ से यह रैली पुराने 500 और हजार रुपये के नोट को चलन से बाहर किए जाने के फैसले के विरोध में आयोजित की गई थी. हालांकि रैली से पहले ही यहां पीएम मोदी के समर्थक भी पहुंच गए थे और वहां मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले केजरीवाल ने अपने ट्वीट के जरिए सरकार के फैसले से असहमति जताने वाले लोगों को आज़ादपुर में इकट्ठा होने का न्योता दिया था. वहीं कल ममता बनर्जी के साथ आप सांसद भगवंत मान भी राष्टपति से मिलने और फ़ैसले के विरोध में ज्ञापन देने राष्ट्रपति भवन गए थे.

ज्ञापन देने के बाद मीडिया से बात करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि काले धन का बचाव करने की कोई मंशा नहीं, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी का यह कदम मोहम्मद बिन तुगलक जैसा है. नोटबंदी के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के नेतृत्व में बहुदलीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी को ज्ञापन दिया है.