NDTV Khabar

गुरमीत राम रहीम को रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा, 30 लाख का जुर्माना

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप को दो मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत ने 10-10 साल की सजा सुनाई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरमीत राम रहीम को रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा, 30 लाख का जुर्माना

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को 10 साल की सजा

खास बातें

  1. गुरमीत राम रहीम को रेप के दो मामलों में 10-10 साल की सजा
  2. कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम पर 30 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया
  3. गुरमीत ने हाथ जोड़कर सजा कम करने की लगाई थी गुहार
रोहतक: डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप को दो मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत ने 10-10 साल की सजा सुनाई है. इसके अलावा कोर्ट ने 30 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है. इसमें से दोनों पीड़िताओं को 14-14 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा और दो लाख रुपये में कोर्ट में जमा होंगे. सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि डेरा प्रमुख के खिलाफ दायर रेप के दोनों मामलों में सुनाई गई जेल की दोनों सजाएं एक के बाद एक लगातार कुल 20 साल तक चलेंगी.
हरियाणा के उपमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

कोर्ट ने बचाव पक्ष की दलीलों को मानने से इनकार कर दिया. दरअसल, बचाव पक्ष ने कहा था कि गुरमीत राम रहीम काफी लंबे समय से समाज सेवा के कामों में लगे हैं. सजा सुनाने के लिए रोहतक की जेल में बनी विशेष अदालत में जज जगदीप सिंह हेलीकॉप्टर के जरिए पहुंचे थे. सजा सुनाए जाने से पहले गुरमीत राम रहीम ने जज के आगे हाथ जोड़े और माफी की मांग की. राम रहीम ने कोर्ट में अच्छे कामों का हवाला देकर नरमी की मांग भी की थी. इससे पहले पंचकूला में कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद डेरा समर्थकों ने जमकर हंगामा किया था, जिसमें 38 लोगों की मौत हो गई थी.

आज प्रशासन पूरी तरह अलर्ट था. जेल के आसपास के इलाके में कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे. अर्ध सैनिक बलों की कंपनियों को तैनात किया गया था.

पढ़ें: गुरमीत राम रहीम अब इन 4 कानूनी विकल्पों की शरण ले सकते हैं डेरा चीफ​

टिप्पणियां
सजा मिलने के बाद कोर्ट में ही बैठ गया गुरमीत राम रहीम और शोर मचाने लगा. कोर्ट ने कहा- गुरमीत राम रहीम ने अपने कद का गलत इस्तेमाल किया. गुरमीत राम रहीम को कोर्ट ने सजा सुनाई, धारा 376, 511 और 506 के तहत हुई सजा
 
rohtak security afp

जज ने रोहतक में फैसला पढ़ना शुरू किया, सिरसा में समर्थकों ने दो गाड़ियां फूंकीं. गुरमीत राम रहीम के वकील ने नरमी की अपील की, समाज सेवा के कामों का हवाला दिया. गुरमीत राम रहीम ने जज के आगे जोड़े हाथ, माफी की मांग की, अच्छे कामों का दिया हवाला. लेकिन कोर्ट ने रहम नहीं दिखाया. 
 
sirsa
रोहतक रेंज के आईजी का दावा काफी हद तक सही रहा कि किसी डेरा समर्थक को उत्पात नहीं मचाने दिया जाएगा. मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए पंजाब के कुछ हिस्सों और पूरे हरियाणा में सभी स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद रहे.

राम रहीम को सजा के ऐलान से पहले सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय से डेरा समर्थकों को निकाला गया. हरियाणा रोडवेज़ की बसों का इंतज़ाम करके डेरा समर्थकों को उनके घरों को वापस भेजा गया. रविवार को कर्फ्यू में 5 घंटों की ढील दी गई थी ताकि लोग घरों से बाहर निकल कर रोजमर्रा की जरूरत के सामान ले सकें, लेकिन सोमवार सजा के ऐलान को देखते हुए कर्फ़्यू में कोई ढील नहीं दी गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement