पार्टी से निकालने के बावजूद शरद पवार ने 15 साल तक कांग्रेस अध्यक्ष की सेवा की : उद्धव ठाकरे

उद्धव ठाकरे ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार पर निशाना साधा, कहा- बीजेपी और शिवसेना हमेशा अलग-अलग पार्टियां रही हैं

पार्टी से निकालने के बावजूद शरद पवार ने 15 साल तक कांग्रेस अध्यक्ष की सेवा की : उद्धव ठाकरे

उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो).

खास बातें

  • ठाकरे ने कहा- बीजेपी और शिवसेना शुरुआत से ही अलग-अलग दल
  • पवार ने तत्कालीन कांग्रेसी मुख्यमंत्री के साथ विश्वासघात किया
  • पवार ने पार्टी नहीं छोड़ी थी सोनिया ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया था
मुंबई:

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को शरद पवार पर निशाना साधते हुए कहा कि सोनिया गांधी द्वारा वर्ष 1999 में पार्टी से निकाले जाने के बावजूद राकांपा प्रमुख ने 15 वर्ष तक कांग्रेस अध्यक्ष की ‘सेवा’ की.

सांगली मिराज कुपवाड नगर निगम चुनाव से पहले पश्चिमी महाराष्ट्र के सांगली में आयोजित रैली में ठाकरे ने कहा, ‘‘आज पवार ने कहा कि उन्होंने हमारी (शिवसेना-भाजपा) जैसी गठबंधन सरकार नहीं देखी है जहां हम बीजेपी की आलोचना करते हैं फिर भी सत्ता में बने हुए हैं. उन्हें मालूम होना चाहिए कि दोनों पार्टियां शुरुआत से ही अलग हैं. आपने मुख्यमंत्री बनने के लिए तत्कालीन कांग्रेसी मुख्यमंत्री के साथ विश्वासघात किया. मैंने आपकी तरह का नेता नहीं देखा है.’’

Newsbeep

VIDEO : संकट में गठबंधन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ठाकरे ने कहा, ‘‘शिवसेना किसी तरह की गलती पर भाजपा की आलोचना करती है और हम उसे सुलझाने में सक्षम हैं. पवार को इसकी चिंता नहीं करनी चाहिए. पवार ने पार्टी नहीं छोड़ी थी बल्कि सोनिया गांधी ने उन्हें कांग्रेस से बाहर का रास्ता दिखा दिया था इसके बावजूद उन्होंने अगले 15 वर्ष तक उनकी सेवा की.’’
(इनपुट भाषा से)